Saturday , May 25 2024

प्रोटोकॉल के तहत नही स्थापित हुईं सार्वजनिक स्थलों पर गणेश प्रतिमाएं

सुबोध पाठक जसवंत नगर इटाव
——-
जसवंतनगर।नगर में शुक्रवार से प्रथम पूजनीय भगवान गणेश को समर्पित गणेश चतुर्थी का त्योहार ब हर्षोल्लास के साथ आरम्भ हो गया। कोरोना प्रोटोकॉल और शासन के निर्देशों के तहत कम से एक दर्जन सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित होने वाली गणेश प्रतिमाओं की स्थापना नही हुई। नगर के पड़ाव मंडी में मुम्बइया न्यारिया द्वारा 25 वर्ष पूर्व शुरू किया गया गणेश प्रतिमा स्थापना आयोजकों ने अश्रुपूरित नेत्रों से स्थगित कर दिया।
गणेश चतुर्थी का उत्सव हर वर्ष भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से मनाया जाता है। गणेश चतुर्थी पर गणेश प्रतिमा स्थापित कर 10 दिनों का गणेश उत्सव शुरू होता है। कोई भी शुभ काम हो, बिना गणपति की पूजा के वह पूरा नहीं होता है।
मान्यता है कि भाद्रपद की चतुर्थी को गणेश जी का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन गणेश चतुर्थी त्योहार मनाया जाता है।
नगर में दर्जनों घरों में छोटी मूर्तियां लोगों द्वारा विधिविधान से स्थापित की गईं। लुधपुरा स्थित टीचर्स कालोनी निवासी समाजसेव वरिष्ठ पत्रकार औऱ सैफई महोत्सव प्रबंधक वेदव्रत गुप्ता ने अपने आवास में गणेश जी की प्रतिमा को स्थापित कर उनका पूजन हवन भोग कीर्तन के प्रबंध किये है। प्रतिदिन सुबह से शाम तक सभी क्रियाएं पूर्ण की जाएंगी। गणेश जी को सर्वसुखाय आराधित किया जाएगा और शुभ दिवस पर उनकी कोरोना प्रोटोकॉल के तहत विदा किया जाएगा।
——-
फोटो- टीचर्स कॉलोनी में घर मे विराजे गणपति