Tuesday , June 18 2024

उत्तराखण्ड

सुबह 3 बजे से मंदिर परिसर में जुटने लगे श्रद्धालु, आज 10855 यात्री भेजे गए केदारनाथ धाम

सोनप्रयाग से दोपहर 12 बजे तक 10855 श्रद्धालु केदारनाथ धाम के लिए भेजे गए। सुबह 6 से 10 बजे तक पार्किंग से बैरियर तक लंबी लाइन लगी रही। लेकिन पूर्वान्ह 11 बजे बाद यहां से गिनती के यात्री ही आगे भेजे गए।

उधर, केदारनाथ में भी दिनभर भक्तों की भीड़ जुटी रही। पिछले कई दिनों के बाद धाम में पूरे दिनभर चटक धूप खिली रही। इस दौरान श्रद्धालुओं ने धाम में सुहावने मौसम का भी भरपूर आनंद लिया।

सुबह 6 बजे तक काफी लंबी लाइन लग चुकी थी। प्रशासन द्वारा सुबह आठ बजे तक तीन हजार से अधिक श्रद्धालु धाम के लिए रवाना किए गए।  इसके बाद शाम छह बजे तक सोनप्रयाग से गौरीकुंड तक ही यात्री भेजे गए।

सेक्टर मजिस्ट्रेट अरूण भट्ट ने बताया कि अन्य दिनों की अपेक्षा मौसम सुबह से लेकर पूरे दिनभर साफ रहा। साथ ही सुबह भी भीड़ काफी रही। लेकिन पूर्वान्ह 11 बजे तक लाइन लगभग खाली हो गई थी। उधर, केदारनाथ में भी बाबा के दर्शनों के लिए श्रद्धालु सुबह 3 बजे से मंदिर परिसर में जुटने लगे थे।

कार सवार से लिफ्ट लेकर एक बदमाश ने बंदूक के दम पर लूटी नकदी और सामान

रुड़की में एक कार सवार से लिफ्ट लेकर एक बदमाश ने तमंचे के बल पर 10 हजार की नकदी समेत अन्य सामान लूट लिया। दिनदहाड़े लूट की घटना से पुलिस में हड़कंप मच गया। पुलिस ने बदमाश की तलाशी को अभियान चलाया लेकिन बदमाश का कुछ पता नहीं चल पाया।

मुजफ्फरनगर निवासी दीपक कुमार बहादराबाद स्थित फाइनेंस का कार्यालय है। बृहस्पतिवार की दोपहर करीब दो बजे वह मुजफ्फरनगर से बहादराबाद जा रहे थे। कलियर के पास पहुंचे तो एक युवक ने हाथ देकर उनसे लिफ्ट मांगी।

कार रुकते ही युवक ने दीपक की कनपटी पर तमंचा रख दिया और उसकी जेब से 10 हजार रुपये, लैपटॉप और अन्य सामान लूट लिया और फरार हो गया। दीपक ने कलियर थाने पहुंचकर लूट के मामले में तहरीर दी। एसओ जहांगीर अली ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। साथ ही बदमाश की तलाश की जा रही है।

सात साल तक पैसे इकट्ठा करता रहा युवक अब आंध्र प्रदेश से चारधाम यात्रा पर दादी को लेकर आया

आंध्र प्रदेश के जनपद अनंतपुर निवासी युवक अशोक सात साल पहले बदरीनाथ की यात्रा पर आया था। तब लोगों के कहने पर वह केदारनाथ भी गया। यहां उसे इतना अच्छा लगा कि लौटते समय उसने अपनी दादी को चारधाम यात्रा कराने का प्रण लिया।

अनंतपुर निवासी युवा अशोक कुुमार (24) ने बताया कि वह अनंत पुर में एक ढाबे में नौकरी करता है। वर्ष 2016 में बदरीनाथ की यात्रा पर आया था। तब वह अनंतपुर से बदरीनाथ तक रास्ते भर लोगों से वाहनों में लिफ्ट मांगकर पहुंचा था।

अशोक ने बताया बदरीनाथ व केदारनाथ की यात्रा के दौरान उसे बहुत सकून का अनुभव हुआ। लौटते समय उसने मन में ही ठान ली थी कि अब चारों धामों की यात्रा पर अपनी दादी को भी लाऊंगा।

अशोक ने बताया कि उसने दादी को तीर्थयात्रा कराने का प्रण कर तो लिया पर उन्हें लिफ्ट मांगकर नहीं ला सकता था। इसके लिए उसने सात साल तक पैसे जमा किए और इस बार अपनी दादी को बस से लाकर ऋषिकेश पहुंच गया है।

निजी स्कूलों में महंगी किताबों का बोझ कम करने के लिए शिक्षा विभाग ने की ये तैयारी

शिक्षा विभाग निजी स्कूलों में महंगी किताबों का बोझ कम करने के साथ ही बस्ते का बोझ भी हल्का करने की तैयारी कर रहा है। ऐसे में कक्षाओं के मुताबिक छात्रों की किताबों को भी कम करने का प्लान किया जा रहा है।

 शिक्षा विभाग, एससीईआरटी के साथ मिलकर कार्य योजना तैयार कर रहा है। उप खंड शिक्षा अधिकारी रायपुर विनोद कुमार ने बताया कि इस संबंध में एससीईआरटी की ओर से काम हो रहा है। इसके अलावा स्कूलों में जांच भी चल रही है।

शिक्षा विभाग की ओर से चार टीमों का गठन किया गया है। यह चार टीम अलग अलग ब्लॉक स्तर पर खंड शिक्षा अधिकारी की देखरेख में बनाई गई है। रोजाना इस तरह की शिकायतें मिल रही थीं कि निजी स्कूल फीस में बढ़ोतरी कर रहे हैं।

एनसीईआरटी की किताबों के अलावा निजी पब्लिकेशन की महंगी किताबें खरीदने के लिए कह रहे हैं। सभी मामलों में शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है और जांच प्रक्रिया शुरू कर दी है। जांच की यह प्रक्रिया एक सप्ताह में पूरी हो जाएगी।

उत्तराखंड में बर्फबारी का सिलसिला जारी, अगले 24 घंटे में आ सकता है एवलांच

उत्तराखंड के चमोली जनपद के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में रुक-रुककर बर्फबारी का सिलसिला जारी है। बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, फूलों की घाटी नीती और माणा घाटियों में सुबह आठ बजे तक बर्फबारी हुई।

मौसम विभाग ने ऊंचाई वाले क्षेत्रों में अगले 24 घंटे में एवलांच आने की चेतावनी दी है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंद किशोर जोशी ने बताया कि आपदा से जुड़े अधिकारियों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। केदारनाथ में मार्च में तीन फीट से अधिक नई बर्फ गिरी है। अप्रैल माह के पहले दिन भी बर्फबारी हुई है। पैदल मार्ग भी लिनचोली से धाम तक बर्फ से लकदक हो रखा है।

केदारनाथ में यूं तो मई में भी बर्फबारी होना आम बात है लेकिन एक- 15 मार्च के बीच तीन-चार दिन यहां हल्की बर्फबारी हुई। इसके बाद 16 से 31 मार्च तक लगातार बर्फ गिरी है। इस दौरान यहां लगभग तीन फीट नई बर्फ गिर चुकी है।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिशासी अभियंता प्रवीण कर्णवाल ने बताया कि केदारनाथ यात्रा के लिए 20 फरवरी से बर्फ सफाई का काम शुरू करते हुए 12 मार्च तक मजदूरों द्वारा केदारनाथ तक बर्फ काटकर रास्ते को पैदल आवाजाही के लिए खोल दिया था। ।

उत्तराखंड: जी-20 समिट की आज से हुई शुरुआत, 17 देशों के 38 प्रतिनिधि रामनगर पहुंचे

त्तराखंड के रामनगर में 28 से 30 मार्च तक चलने वाली जी-20 समिट आज मंगलवार से शुरू हो जाएगी। इसके लिए 17 देशों के 38 प्रतिनिधि रामनगर पहुंच गए हैं। पंतनगर एयरपोर्ट पर मेहमानों का जोरदार स्वागत किया गया।

इस दौरान कलाकारों ने मेहमानों के स्वागत में छोलिया नृत्य की प्रस्तुति दी। जिसके बाद उन्हें सुपर डिलक्स बस से रामनगर के लिए रवाना किया गया। वहीं, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 3.30 बजे तक रामनगर पहुंचने संभावना है।

आज शाम को रामनगर में राउंड टेबल कार्यक्रम की शुरुआत होगी। मेहमानों को पंतनगर एयरपोर्ट से रामनगर पहुंचाने की विशेष व्यवस्था की गई है। रूट पर लगे 34 सीसीटीवी की निगरानी सीधे पुलिस कंट्रोल रूम से की जा रही है। विदेशी मेहमानों के फ्लीट में छोटे-बड़े 23 वाहन शामिल हैं।

नैनीताल के रामनगर में होने वाली चीफ साइंस एडवाइजर राउंड टेबल कार्यक्रम की पहली बैठक दो दिन चलेगी। इसके बाद 25 से 27 मई को नरेंद्रनगर, ऋषिकेश में दूसरी बैठक होगी। यह बैठक भ्रष्टाचार विरोधी कार्य समूह की होगी।

उत्तराखंड: हेलीपैड की सुरक्षा के लिए केदारनाथ में होने प्राइवेट सुरक्षा एजेंसी के इंतजाम

उत्तराखंड स्थीत केदार घाटी में मौसम का अपडेट देने मे लिए केदारनाथ में मौसम विभाग का सब स्टेशन स्थापित किए जाने और केदार वैली में विभिन्न स्थानों पर कैमरे लगाते हुए मौसम की रियलटाइम जानकारी उपलब्ध कराने का भी निर्णय लिया गया।

 बैठक में बताया गया कि इस बार 136646 लोगों द्वारा हेली सेवा का लाभ उठाया।बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि टिकट कालाबाजारी रोकने के लिए अगले सीजन में प्रत्येक हेलीपैड पर कैमरे लगाये जाएंगे। यूकाडा एवं जीएमवीएन के स्टाफ द्वारा टिकट और पहचान पत्र का सत्यापन किया जाएगा।

यूकाडा के स्तर अगले सीजन में देहरादून से बद्रीनाथ, देहरादून से केदारनाथ, केदारनाथ वैली से बद्रीनाथ, गौचर से केदारनाथ के लिए सेवा संचालित करने का निर्णय लिया गया। इन रूट की अनुमति डीजीसीए से ली जाएगी।

पीएम मोदी के जन्मदिन का उत्तराखंड में विशेष कार्यक्रम, सीएम धामी ने चारों धामों में कराई पूजा-अर्चना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की ओर से चारों धामों में विशेष पूजा अर्चना के साथ ही श्री हेमकुंठ साहिब में विशेष अरदास कराई गई।उत्तराखंड में भी इस अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की ओर से प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर चारों धामों (बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री एवं यमुनोत्री जी) में विशेष पूजा अर्चना एवं महारुद्राभिषेक कराया गया।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में आज देश-दुनिया मे भारत के मान में उत्तरोत्तर वृद्धि हुई है। देवभूमि उत्तराखंड के प्रति प्रधानमंत्री जी का विशेष लगाव है।

हेमकुंड गुरुद्वारा साहिब में भी इस अवसर पर विशेष अरदास का आयोजन हुआ। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री की सुदीर्घ जीवन, स्वस्थ जीवन और यशस्वी होने के लिए प्रार्थना की।आज उनके मार्ग-दर्शन में उत्तराखंड में विकास की तमाम योजनाएं संचालित हो रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2025 तक उत्तराखंड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए हम संकल्पित हैं।

“जिसमें होगा दम, उसके संग होंगे हम”, उत्तराखंड में इस बार नौकरशाही इस पार्टी के हाथ में सौपेंगे सत्ता की चाभी

उत्तराखंड में सत्ता की बागडोर प्रदेश के मतदाताओं ने किस दल को सौंपी है, इस प्रश्न का उत्तर बेशक 10 मार्च को मिलेगा, लेकिन राज्य के प्रशासनिक तंत्र को चलाने वाली नौकरशाही को वक्त रहते चुनावी हवा का रुख भांपने की कोशिश कर रही है।

प्रदेश के सरकारी तंत्र में नौकरशाही का यही ही सिद्धांत रहा है जिसमें होगा दम, उसके संग होंगे हम। राजनीतिक दलों के दफ्तरों व सचिवालय के गलियारों और सरकारी दफ्तरों में इन दिनों एक प्रश्न का उत्तर जानने की बेताबी और कसरत हो रही है।
मीडिया के लोगों से भी जानने का प्रयास हो रहा है कि प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी। उत्सुकता इस को जाने की भी है कि भाजपा या कांग्रेस की सरकार बनी तो मुख्यमंत्री बनने की संभावना सबसे ज्यादा किस नेता की होगी।सत्ता बदलते ही बदल जाता है नौकरशाहों का रसूख उत्तराखंड में सत्ता बदलते ही नौकरशाहों का रसूख बदल जाता है। भाजपा सरकार में तीन बार नेतृत्व परिवर्तन के दौरान नौकरशाही में हुआ बदलाव इसका सबसे बड़ा उदाहरण है।

भाजपा सरकार में नौकरशाही और लोकशाही कभी एक-दूसरे के आमने-सामने होती दिखी तो कभी एक-दूजे के लिए भी नजर आई। सरकार के ही मंत्रियों ने अपने विभागों में उन नौकरशाहों की तैनाती को तरजीह दी, जिनसे उनकी खूब पटरी बैठी।

महत्वपूर्ण सूचना
आप सभी सम्मानित पाठकों को यह सूचित किया जाता है की तकनीकी खराबी के कारण नवीनतम् खबरों का प्रसारण आज शाम तक बधित रहेगा । आप सभी को हुई परेशानी के लिए खेद है।
संपादक
रामनरेश यादव