Tuesday , May 21 2024

सभी लेखपाल मच्छर जनित बीमारियों के प्रति करें जागुरूक – जिलाधिकारी

पंकज शाक्य  संवाददाता मैनपुर
मैनपुरी- जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह, पुलिस अधीक्षक अजय कुमार राय ने थाना समाधान दिवस के अवसर पर थाना दन्नाहार, घिरोर में जन समस्याएं सुनने के दौरान उपस्थित राजस्व निरीक्षकों, लेखपालों, पुलिस कर्मियों को आदेशित करते हुए कहा कि इस दिवस पर प्राप्त शिकायतों का यथासंभव उसी दिन निस्तारण किया जाए, शिकायतों के निस्तारण में समयबद्ध, गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए यदि किसी के द्वारा निस्तारण की गलत आख्या प्रस्तुत की गई और शिकायतकर्ता शिकायत के निस्तारण से संतुष्ट न हुआ तो जिम्मेदारी तय कर प्रभावी कार्यवाही होगी। उन्होंने प्रभारी निरीक्षक दन्नाहार, घिरोर को निर्देशित करते हुए कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस, जनता दर्शन, जन-सुनवाई के दौरान प्राप्त भूमि संबंधित शिकायतें निस्तारण हेतु थानों में भेजी जा रही हैं, उन्हें थाना समाधान दिवस पंजिका में अंकित किया जाए और थाना समाधान दिवस के दिन पुलिस, राजस्व की संयुक्त टीम गठित कर थाने की जीडी में अंकन कर मौके पर भेजा जाए। मौके पर दोनों पक्षों की उपस्थिति में भूमि विवाद का निस्तारण किया जाए। वापिस आने पर थाने की जीडी में कृत कार्यवाही का अंकन किया जाये यदि मौके पर विवाद की स्थिति हो तो विवाद करने वाले पक्ष को 107/16 में भारी मुचलके में पाबंद किया जाए यदि उसके द्वारा कार्यवाही में विघ्न पैदा किया जाए, तो उसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई जाए। एक बार कब्जा हटवाने के बाद यदि किसी के द्वारा पुनः कब्जा किया जाए। तो उसके विरुद्ध भू-माफिया के तहत सुसंगत धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कर दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाये। सरकारी भूमि पर कब्जा करने करने वालों के विरुद्ध लोक संपत्ति क्षति निवारण के तहत कार्यवाही अमल में लाई जाए।
           उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी, कर्मचारी जन शिकायतों के निस्तारण के प्रति संवेदनशील रहें, यथासंभव शिकायत का मौके पर जाकर समय से निराकरण किया जाए, शिकायतों के निस्तारण में किसी भी स्तर पर विलंब अक्षम्य होगा। उन्होने कहा कि शासन के स्पष्ट निर्देश हैं कि सम्पूर्ण समाधान दिवस, थाना समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों का निर्धारित समयसीमा में गुणवत्तापरक निस्तारण हो। इस दिवस पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में तेजी आयी हैं लेकिन कुछ शिकायतों के निस्तारण से शिकायतकर्ता संतुष्ट नहीं हैं। अधिकारी शिकायत का निराकरण करने के उपरांत शिकायतकर्ता से बात अवश्य करें और कृत कार्यवाही से उसे अवगत करायें, तभी निस्तारण आख्या भेजें।
      जिलाधिकारी ने लेखपालों से कहा कि जनपद में बुखार से पीड़ित व्यक्ति प्रतिदिन मिल रहे हैं, जांच में कई बुखार पीड़ित व्यक्तियों को डेंगू निकला है। सभी लेखपाल अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए जागरूक करें, उन्हें पूरी आस्तीन के कपड़े पहनने, बच्चों को पेंट पहना कर रखने के लिए प्रेरित करें, घर में कहीं भी साफ पानी एकत्र न हो, क्योंकि डेंगू का मच्छर साफ पानी में ही पैदा होता है, इसलिए सभी लोग जल पात्रों, कूलर आदि की नियमित सफाई करें, मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी, क्रीम आदि का प्रयोग करें। उन्होंने लेखपालों से कहा कि सचिव, प्रधान के माध्यम से गांव में सफाई व्यवस्था के साथ-साथ एंटी लार्वा का छिड़काव, फांगिंग का कार्य कराएं, जहां भी बुखार से अधिक व्यक्ति पीड़ित हो उसकी सूचना तत्काल मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में स्थापित फीवर हेल्प-डेस्क के दूरभाष नंबर 056722-240251 पर दें यदि किसी व्यक्ति को इलाज की आवश्यकता हो तो एंबुलेंस सेवा 108 पर फोन कर उसे स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान कराएं। उन्होंने कहा कि लोगों को बीमार होने की दशा में झोलाछाप चिकित्सकों से इलाज न लेने। अपंजीकृत पैथोलॉजी से जांच न कराने के लिए जागरूक करें। उन्हें सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रशिक्षित चिकित्सकों से इलाज कराने के लिए प्रेरित करें। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी घिरोर रतन वर्मा, तहसीलदार सदर राजकुमार, प्रभारी निरीक्षक दन्नाहार, घिरोर पहलवान सिंह, पी.आर.ओ. रमाकर यादव, राजस्व निरीक्षक लेखपाल आदि उपस्थित रहे।