Tuesday , May 28 2024

पिनाहट के दो गांव में फैला वायरल फीवर, डेंगू के एक मरीज की मौत ,एक संदिग्ध बच्ची की मौत

बालकिशन संवाददाता पिनाहट आगर

पिनाहट। पिनाहट ब्लॉक क्षेत्र के दो गांव में तेजी के साथ वायरल फीवर फैलने के चलते मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। वहीं वायर फीवर के चलते पिनाहट के भावनाथ की ठारि व हुसैन पुरा में बडे पैमाने पर घर घर चारपाई बिछी पड़ी हैं। वहीं डेंगू की चपेट में आने के चलते एक किशोर की मौत हो गई है। एक संदिग्ध मासूम बच्ची की मौत हो गई है ।वहीं सैकड़ों मरीज वायरल फीवर के चलते गांव में चारपाई पर पड़े हुए हैं ।वही स्वास्थ्य विभाग की तरफ से इनके बेहतर उपचार की कोई व्यवस्था नहीं की गई है ।जिससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।
जानकारी के अनुसार पिनाहट ब्लॉक क्षेत्र के गांव भावनाथ की ठार निवासी किसान सुदामा का 13 वर्षीय पुत्र वीकेश पिनाहट कस्बे शिखावी एजुकेशन एकेडमी में कक्षा 5 का छात्र था ।पिता सुदामा ने बताया कि वीकेश को 9 सितंबर की दोपहर को तेज बुखार आया। तेज बुखार आने पर पिनाहट कस्बे से दवा दिलवायी। लेकिन वीकेश को कोई लाभ नहीं मिला। इस पर पिता अपने पुत्र को लेकर 10 सितंबर सुबह आगरा के दीक्षित स्थित डॉ आर के गुप्ता के पास ले गए। जहाँ डॉक्टर ने वीकेश की जांच कराई ।तो जांच में ns1 पॉजिटिव रिपोर्ट आई ।जांच में डेंगू की पुष्टि होने के बाद उसका इलाज शुरू किया गया ।जहां दोपहर करीब 2 बजे इलाज के दौरान वीकेश की मौत हो गई ।वहीं दूसरी घटना पिनाहट कस्बे के मोहल्ला चाँदनी चौक निवासी चाँद खान की 6 माह की पुत्री शिफा की भी तेज बुखार आने के बाद बुधवार शाम करीब 4 बजे मौत हो गयी।वहीं वीकेश में डेंगू की पुष्टि होने के बाद परिजनों में हड़कंप मचा हुआ है। मृतक के घर में लगभग सभी 50 से 60 लोग वायरल फीवर के चलते बुखार से पीड़ित चारपाई पर पड़े हुए हैं। मृतक के परिजन भी वायरल फीवर की चपेट में इलाज के लिए भटक रहे हैं।

मृतक के घर बिछी चारपाई,नहीं पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम,50से 60लोग बुखार से पिडित

पिनाहट ।वायरल फीवर की चपेट में आने से मृतक के पिता सुदामा उम्र करीब 35 वर्ष ,माँ जनको देवी उम्र करीब 30 वर्ष, भाई अंशु 8 वर्ष बहिन पावनी व भतीजी सुलेखा पुत्री सुभाष उम्र करीब 12 वर्ष ,सुदामा के चाचा हीरा सिंह उम्र करीब 40 वर्ष ,भाई देवेंद्र 16 वर्ष ,मुरारी लाल 55 वर्ष, नारायण 28 वर्ष ,राजेश 17 वर्ष ,चिंकू पुत्री राजेंद्र 5 वर्ष, मोनिका पुत्री नारायण 7 वर्ष ,प्रीति पुत्री खुशीराम 12 वर्ष उमेश पुत्र खुशीराम 10 वर्ष ,छोटी पुत्री राजकुमार 6 माह, रूबी पत्नी जयशंकर 22 वर्ष, घनश्याम पुत्र दीपचंद 38 वर्ष ,रेखा पुत्री घनश्याम 20 वर्ष ,रामनिवास पुत्र सुंदर सिंह 32 वर्ष ,हाकिम सिंह पुत्र महाराज सिंह 35 वर्ष सहित करीब 50 लोग बुखार के चलते झोलाछापो के यहां इलाज करा रहे है। वही डेंगू के संदिग्ध सतेंद्र पुत्र रामसेवक उम्र 5 वर्ष ,ममता पुत्री राम सेवक 10 वर्ष , मीरा पत्नी भंवर सिंह उम्र करीब 35 वर्ष तीनों का आगरा में इलाज चल रहा है।

ग्रामीणों का आरोप गांव में फैली गंदगी से पनप रही बीमारी

पिनाहट। ग्रामीण सुदामा व हीरा सिंह का आरोप है कि घर के आसपास व गलियों में वारिस का गंदा पानी भरा हुआ है। जिसमें मच्छर पनप रहे हैं। जिसके चलते लगातार बीमारियां बढ़ रही है ।कई बार स्वास्थ्य विभाग व प्रधान को शिकायत कर चुके है ।लेकिन शिकायत के बावजूद भी गांव में एंटी लारवा व कीटनाशक दवाओ का छिड़काव नहीं कराया गया है। और न ही गांव में फॉगिंग की गई है ।आरोप है कि सूचना के बाद भी गांव में स्वास्थ्य विभाग की कोई टीम जांच के लिए नहीं आई है। ग्रामीणों ने गांव में एंटी लारा का छिड़काव ,फागिंग कराने व स्वास्थ्य विभाग की टीम की मांग की है।

जांच के नाम पर लूट रहे पैथोलॉजी संचालक

पिनाहट ।पीड़ित सुदामा व  हीरा सिंह का आरोप है कि पिनाहट कस्बे के पैथोलॉजी संचालक वायरल फीवर की जांच के नाम पर गरीबों कों लूट रहे हैं। और डेंगू का भय दिखाकर 800 रुपये से लेकर 1200 रुपये वसूल रहे हैं। जांच के नाम पर लोगों से धन वसूल रहे हैं। गरीबों की जेब में डाका डाल रहे हैं। लोगों से कहते हैं कि हम केवल मुंह से डेंगू बता सकते हैं ।लेकिन रिपोर्ट में डेंगू लिख कर नहीं दे सकते ।इस प्रकार लोगों से डेंगू की रिपोर्ट का भय दिखाकर दुगने रुपए वसूलने में जुटे हुए हैं ।

वहीं इस मामले में सीएचसी अधीक्षक डॉक्टर विजय कुमार का कहना है मामला उनके संज्ञान में नहीं है। नहीं उन्हें अभी इस तरह की जानकारी प्राप्त हुई है।