Saturday , May 25 2024

पिनाहट में डेंगू से किशोर व बुखार से मासूम की मौत के बाद जागा स्वास्थ्य विभाग,गांव गांव दौड़ी स्वास्थ्य विभाग की टीम

वालकिशन आगरा

पिनाहट। पिनाहट ब्लॉक क्षेत्र में वायरल फीवर व डेंगू के मरीजो की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। और स्वास्थ्य विभाग गहरी नींद में सोया हुआ है। पिनाहट के गांव भावनाथ की ठारि में डेंगू से किशोर की मौत व कस्बे में बुखार से मासूम बच्ची की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग  की गहरी नींद टूट गयी। किशोर व मासूम की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने वायरल फीवर व डेंगू जैसी घातक बीमारियों से गांव देहात के ग्रामीणों को बचाने ने लिऐ गांव भाव नाथ की ठारि व हुसैन पुरा में बुखार से पिडित मरीजो का चैकअप कर उन्हें दवा वितरित की है।और बुखार से गंभीर मरीजो के ब्लड के सैंपल जांच के लिए लैब भेज दिए हैं।

जानकारी के अनुसार गुरुवार को पिनाहट के गांव भावनाथ की ठारि में डेंगू से 13 वर्षीय किशोर वीकेश की मौत के बाद आखिरकार स्वास्थ्य विभाग की गहरी नींद टूट गयी। और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिनाहट अधीक्षक डॉ विजय कुमार के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम डेंगू से मृतक किशोर वीकेश के घर पहुंची। जहाँ स्वास्थ्य विभाग की टीम में डॉ कपिल ,डॉ कौशलेंद्र सिंह व एलए राणा प्रताप ने मृतक के घर पर स्वास्थ्य कैंप लगाकर वायरल बुखार से पिडित करीब 92 मरीजो की जांच की गयी। जिसमें वायरल फीवर से पिडित 43 मरीजो के ब्लड के नमूने लिऐ गये। और 43 मरीजो के मलेरिया के कार्ड बनाए। सभी मरीजो के ब्लड सैंपल जांच के लिऐ पिनाहट लैब भेज दिये हैं।इसके बाद टीम गांव हुसैन पुरा पहुंची। पिनाहट सीएचसी से गंभीर स्थिति में आगरा भेजें गऐ डेंगू के मरीज 17 वर्षीय पवन के घर पहुंची। जहाँ स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ग्रामीणों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिए कैंप लगाया  । कैंप में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने करीब 56 मरीजों की जांच की है।जिसमें 27 मरीज के मलेरिया कार्ड और 27 मरीज वायरल फीवर के मिले हैं।जिनके ब्लड सैंपल जांच ले लिए लैब भेज दिये हैं ।शेष मरीजों को दवा वितरित की गई है।
वहीं सीएचसी अधीक्षक डॉ विजय कुमार  ने बताया कि ग्रामीण अपने घरों में व आस पास बारिश का गंदा पानी जमा न होने दें ,कूड़ा कूड़ेदान में ही डालें ,बुखार आने पर लापरवाही न बरते, सरकारी हॉस्पिटल पर डॉक्टर से परामर्श अवश्य लें ।झोलाछापों के इलाज से बचे हैं।बिना जांच के दवा न लें।