Saturday , July 13 2024

एक्शन में गृह मंत्री अमित शाह, जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा पर की चर्चा; 16 जून को उच्च स्तरीय बैठक

जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों में हुए कई आतंकी हमलों के बाद केंद्र सरकार अलर्ट मोड में आ गई हैं। बता दें कि आतंकवादियों ने रियासी, कठुआ और डोडा में चार जगहों पर हमले किए हैं। जिसमें 10 तीर्थयात्रियों की मौत हुई। वहीं सीआरपीएफ का एक जवान भी शहीद हुआ है। इन हमलों के बाद जहां एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और अन्य अधिकारियों के साथ जम्मू-कश्मीर की स्थिति की समीक्षा की। वहीं आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के हालातों की समीक्षा की है।

16 जून को बुलाई उच्च स्तरीय बैठक
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 16 जून को एक उच्च स्तरीय बैठक भी बुलाई है। जिसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल मनोज सिन्हा, सेना और सीआरपीएफ के कई अन्य शीर्ष अधिकारी भी शामिल होंगे। आज की बैठक में गृह मंत्री अमित शाह को जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात और आतंकवादियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई से अवगत कराया गया है।

4 दिनों में आतंकियों ने किए हमले
बता दें कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने पिछले चार दिनों में रियासी, कठुआ और डोडा में हमले किए। इन हमलों में 10 तीर्थयात्रियों की मौत के साथ सीआरपीएफ का एक जवान भी शहीद हुआ है। जबकि इन हमलों में सात से ज्यादा सुरक्षाकर्मी और कई अन्य लोग घायल हुए हैं। वहीं कठुआ जिले में सुरक्षा बलों की कार्रवाई में दो संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादी एनकाउंटर में ढेर किए गए हैं। जिनके पास से भारी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद किए गए हैं।

जम्मू क्षेत्र पर आतंकियों का फोकस
पिछले कुछ समय से आतंकियों का फोकस कश्मीर घाटी की बजाए, जम्मू क्षेत्र पर अधिक हो रहा है। इस कड़ी में जम्मू के रियासी में आतंकवादियों ने शिवखोड़ी मंदिर से कटरा जा रहे तीर्थयात्रियों की एक बस को निशाना बनाया था। इस हमले में 10 तीर्थयात्रियों की मौत हुई थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने अलग-अलग जिलों में सर्च ऑपरेशन चलाया और संदिग्ध आतंकवादियों के स्केच भी जारी किए थे।