Saturday , May 25 2024

मैनपुरी कानूनगोयान में शुरु हो गया नौनिहालों के भविष्य से खिलवाड़

पंकज शाक्य

कुरावली/मैनपुरी। नगर के मोहल्ला कनूनगोयान में राठौर कैसेट बाली गली में विना मान्यता के स्कूल संचालित करके कल के भविष्य कहे जाने वाले बच्चो के साथ खिलवाड़ हो रहा है। विना मान्यता के अवैध स्कूल को कलमनवीस मास्टर संचालित कर रहा है। बच्चों के शारीरिक विकास के लिए खेल मैदान के नाम पर इस अवैध विद्यालय में खेल हो रहा है।
नगर के मोहल्ला कानूनगोयान में राठौर कैसेट वाली गली में कई बर्षो से विना मान्यता अवैध रुप से स्कूल संचालित हो रहा है। बताया जाता है इस विद्यालय को कलमनवीस मास्टर संचालित कर रहा है। यह अवैध स्कूल विना मान्यता के कई सालो से संचालित हो रहा है। विना मान्यता के स्कूल संचालित होने के बाद भी शिक्षा विभाग के जिम्मेदारो की निगाह कभी भी नही पड़ी। जिसका मुख्य कारण कलमनवीस मास्टर की कलम का भय वताया जाता है। कोरोना काल में स्कूल बंद होने के साथ साथ यह अवैध स्कूल भी बंद था। लेकिन शासन से शिक्षा के मंदिरो में पढ़ाई शुरु होने के आदेश के साथ ही यह शिक्षा के नाम पर खिलवाड़ करने वाला अवैध स्कूल भी शुरु हो गया है।

खैरात की बिल्डिंग में हो रहा संचालन
स्कूल के संचालन के लिए उसी स्कूल की बिल्डिंग होना आवश्यक है। जिसकी जमीन भी विद्यालय के नाम पर ही होनी चाहिए। लेकिन कानूनगोयान में अवैध स्कूल खैरात की बिल्डिंग में संचालित हो रहा है।

खेल मैदान के नाम पर हो रहा खेल
कलमनवीस मास्टर जिस स्कूल को संचालित कर रहा है। उसमें बच्चो के शारीरिक विकास के लिए खेल मैदान नही है। बच्चे को कमरो में खेलना पड़ता है। जिससे उनका शारीरिक विकास रुक जाता है। इस स्कूल में खेल मैदान के नाम पर भी खेल होता है।

स्कूल संचालन के लिए क्या है मानक
एक स्कूल का संचालन करने के लिए शिक्षा विभाग से मान्यता लेना आवश्यक होता है। चाहे वो यूपी बोर्ड की मान्यता हो या फिर सीबीएसई बोर्ड की मान्यता हो। जिस जमीन पर स्कूल बना हुआ है। वो जमीन स्कूल के नाम होनी चाहिए। स्कूल में खेल मैदान होना जरुरी होता है। लेकिन कानूनगोयान के स्कूल में एक भी मानक पूर्ण नही है।

क्या कहते है बीएसए मैनपुरी
विना मान्यता के स्कूल संचालित होने का मामला संज्ञान में नही है। अगर विना मान्यता के स्कूल संचालित हो रहा है। तो जांच कराई जाएगी। अगर स्कूल विना मान्यता के संचालित होते मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी।- कमल सिंह बीएसए मैनपुरी।