Saturday , June 15 2024

*जिला कोषागार इटावा के अकाउंट सेक्शन की एक खिड़की में घुसा था भेड़िया साँप,सर्प मित्र डॉ आशीष ने किया सुरक्षित रेस्क्यू*

  1. *जिला कोषागार इटावा के अकाउंट सेक्शन की एक खिड़की में घुसा था भेड़िया साँप,सर्प मित्र डॉ आशीष ने किया सुरक्षित रेस्क्यू*

(जिला कोषागार के कर्मचारियों में करैत जैसा दिखने वाले सर्प को देखकर मचा हड़कम्प, डॉ आशीष ने रेस्क्यू कर सभी का भय दूर किया )

*इटावा*। जिला कोषागार इटावा के अकाउंट सेक्शन की एक खिड़की में घुसा था भेड़िया साँप वोल्फ स्नेक (लाइकोडोंन) कोषागार के लेखाकार अरविंद प्रताप सिंह धनगर ने सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी को सुबह खिड़की में एक सर्प के घुसे होने की सूचना फोन पर दी । तभी डॉ आशीष 5 मिनट में ही कोषागार में मौके पर पहुंचे और बड़ी ही सरलता से उसे 2 मिनट से भी कम समय में ही पकड़ लिया । मिशन स्नेक बाइट डेथ फ्री इंडिया के यूपी कोर्डिनेटर वन्यजीव विशेषज्ञ, सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी ने मौके पर सभी को जानकारी देते हुये बताया कि, आजकल सामान्य रूप से दिखाई देने वाला यह लाइकोडोंन (कॉमन वोल्फ स्नेक) सर्प भेड़िया सर्प है। जो कि एक विषहीन प्रजाति का साँप है, जिसके काट लेने से किसी को कोई भी नुकसान या कोई खतरा नही होता है। न ही पीड़ित को किसी इलाज की आवश्यकता होती है बस किसी भी विषहीन सर्प के काटे हुये स्थान को ठीक से डिटॉल से ही साफ कर देने से उसका इलाज पूर्ण हो जाता है । डॉ आशीष ने सभी को बताया कि, यह सर्प विषधारी करैत से कुछ मिलता जुलता दिखता है लेकिन ध्यान से देखा जाये तो दौनो में भिन्नता है इसके चॉकलेटी ब्राउन रंग के शरीर पर बने बैंड (पट्टियां) चौड़े व पीले रंग की व सिर से शुरू होकर थोड़े दूर दूर होते है वहीं भूरे व काले दो रंग की करैत प्रजाति में यही बैंड (पट्टियां) सफेद रंग की व सिर से थोड़ा पीछे से शुरू होकर पतली पतली व थोड़ी सी दूर दूर दिखाई देती है । ध्यान रखिये करैत व लाइकोडोंन सर्प ज्यादा लम्बे नही होते लाइकोडोंन एक से डेढ़ फीट जब कि, करैत अधिकतम 3 से साढ़े तीन फ़ीट तक लम्बा हो सकता है। विदित हो कि, वन्यजीव विशेषज्ञ सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी के द्वारा जनपद में उनकी संस्था ओशन ऑर्गनाइजेशन फॉर कन्जर्वेशन ऑफ एनवायरमेंट ऑफ नेचर के द्वारा चलाये जा रहे पर्यावरण एवं वन्यजीव संरक्षण जागरूकता कार्यक्रम का ही असर है कि लोगों ने अब सर्पों को मारना ही छोड़ दिया है व सभी डॉ आशीष को उनके हेल्पलाइन नम्बर 7017204213 पर सूचना देने लगे है। आज इस इस रेस्क्यू के समय अरबिंद प्रताप सिंह धनगर अध्यक्ष कोषागार कर्मचारी संघ, राजेश चौहान, निशांत कुमार सिंह, अरबिंद शाक्य, रमेश चन्द्रा,सहित सभी अन्य कोषागार कर्मी मौजूद रहे। सभी ने डॉ आशीष को उक्त सर्प का सफल रेस्क्यू कर सभी कर्मचारियों का भय दूर करने के लिये विशेष धन्यवाद भी दिया।
*उत्तर प्रदेश न्यूज,इटावा*