Saturday , April 13 2024

आने वाले कुछ दिनों में देखने को मिलेगा कोरोना वायरस का विकराल रूप, इन जगहों पर न उतारे मास्क

अब दुनिया भर में फैल रहे SARS-COV-2 वायरस के म्यूटेंट डेल्टा वैरिएंट से बड़े पैमाने पर खतरा उत्पन्न हो गया है। यह अधिक संक्रामक है और कुछ जनरेटेड एंटीबॉडी से गुजरने करने की क्षमता के लिए जाना जाता है। डेल्टा वैरिएंट के कारण लॉकडाउन फिर से लग सकता है। इसलिए COVID-19 उपयुक्त व्यवहार की अधिक आवश्यकता है।

एक मॉडलिंग अध्ययन के आधार पर वैज्ञानिकों का कहना है कि अगले कुछ वर्षों में कोरोनावायरस भी सामान्य जुकाम वाले वायरस की तरह ही व्यवहार कर सकता है, यानी कि वैज्ञानिकों का मानना है कि कोरोनावायरस की गंभीरता आने वाले कुछ वर्षों में कमजोर होती जाएगी।

मॉडलिंग अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि ऐसे संकेत मिले हैं कि आने वाले वर्षों में कोरोनावायरस का संक्रमण ज्यादातर उन्हीं छोटे बच्चों में होगा जिन्हें टीका नहीं लगा होगा या फिर जो पहले कभी इस वायरस के संपर्क में नहीं आए होंगे।

कोरोना वायरस के मामले भले ही थम गए हों लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अभी भी जरूरी है। इसलिए शादी, जुलूस, अंत्येष्टि या ऐसी ही किसी अन्य जगह पर जमा होने से बचें। हमेशा मास्क लगाए रखें और लोगों के संपर्क से दूर रहें।

इसके कारण लोग सामाजिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं और ट्रांसपोर्ट में तेजी से भीड़ बढ़ रही है। अगर आप घर से बाहर निकल रहे हैं तो मास्क जरूर पहनें। अन्यथा आपको संक्रमण हो सकता है।