Friday , March 1 2024

औरैया,अध्यक्षा ने कराई गर्भवती महिलाओं की गोद भराई कुपोषित बच्चों को पोषण पोटली

ए, के, सिंह संवाददाता

अध्यक्षा ने शिशु जन्म की महिलाओं को दी पोषण किट, आरटीपीसीआर लैब का किया निरीक्षण

अध्यक्षा ने कोतवाली पहुंच कर महिला हेल्प डेस्क का किया निरीक्षण

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को रखना चाहिए अपने पोषण का पूरा ध्यान – अध्यक्ष

औरैया _शुक्रवार महिला एवं बाल विकास संयुक्त समिति विधानसभा उत्तर प्रदेश की अध्यक्ष सरिता भदौरिया व समिति की सदस्या निर्मला संखवार द्वारा आंगनवाड़ी केंद्र वैसुंधरा में गर्भवती महिलाओं की गोद भराई तथा कुपोषित बच्चों को पोषण पोटली दी गई एवं नियमित रूप से हरी सब्जियों एवं विटामिन युक्त आहार का सेवन करने हेतु प्रेरित किया गया। इस दौरान भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश मंत्री सौरभ भूषण शर्मा मौजूद रहे।
इस दौरान गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों की देखभाल को लेकर कई जानकारियां भी दी गई। गोद भराई का मुख्य उद्देश्य गर्भावस्था के दिनों में बेहतर पोषण की जरूरत के बारे में गर्भवती महिलाओं को अवगत कराना है। माता एवं गर्भस्थ शिशु के बेहतर स्वास्थ्य एवं प्रसव के दौरान होने वाली संभावित जटिलताओं में कमी लाने के लिए गर्भवती के साथ परिवार के लोगों को भी अच्छे पोषण पर ध्यान देना चाहिए। बेहतर पोषण एक स्वस्थ बच्चे के जन्म में सहायक होने के साथ गर्भवती महिलाओं में मातृ-शिशु मृत्यु दर में कमी भी लाता है।
मौके पर गर्भवतियों से अपील करते हुए अध्यक्षा ने कहा कि गर्भावस्था में महिला को कैल्शियम का ध्यान रखना चाहिए और समय-समय पर चिकित्सकों से जांच कराती रहनी चाहिए। इस दौरान महिलाओं को अपने दैनिक जीवन में स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में पोषण की जरूरत होती है। पोषण की कमी होने से महिलाओं में खून की कमी हो जाती है और वह कुपोषण का शिकार हो सकती है।
इसके बाद उन्होंने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। वहां उन्होंने शिशु जन्म की महिलाओं को पोषण किट वितरित की और उनका हालचाल पूछा। इसके बाद उन्होंने गर्भवती महिलाओं के प्रसव रजिस्टर को चेक किया। चेकिंग के दौरान रजिस्टर में महिलाओं के जाने का समय अंकित ना होने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को सख्त निर्देश दिए कि सभी अभिलेखों को निरीक्षण करें और जो खामियां हैं उसे सही किया जाए। साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने नवनिर्मित आरटी पीसीआर लैब का भी निरीक्षण किया। उन्होंने ऑक्सीजन प्लांट के बारे में जानकारी ली जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा बताया गया अभिलेख का कार्य पूरा किया जा चुका है ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण का जल्द कार्रवाई प्रारंभ कर दी जायेगी। इस दौरान जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देश दिये गये कि अध्यक्षा द्वारा दिए गये निर्देशों को शत प्रतिशत पालन किया जाये।
इसके बाद अध्यक्षा द्वारा कोतवाली पहुंचकर वहां बनी महिला हेल्प डेस्क का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक अर्पणा गौतम ने बताया घरेलू विवाद के 171 मामले का आपसी सुलहनामा कराया गया है जिस पर सभापति ने पुलिस अधीक्षक समेत सभी पुलिस कर्मियों को इस सराहनीय कार्य के लिए बधाई दी।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह, परियोजना निदेशक हरेंद्र सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी व अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।