Saturday , April 13 2024

मैनपुरी सूखदारों ने ग्राम पंचायत की जमीन पर 40 वर्षों से रह रहे बंजारों के आशियानों को उजाडा

पंकज शाक्य

बिछवां/मैनपुरी- थाना क्षेत्र के एक गाँव में वीते चालीस साल से झोपड़ियां बनाकर रह रहे वंजारों की झोपड़ियों को पडोंसी गाँव निवासी रसूखदारों ने तोड़ डाला और जमींन पर हैरो चला समतल करवा दी। जब परिवारीजनों ने बिरोध किया तो गाली गलौज कर जान से मारने की धमकी दी। पीड़िता ने उच्चाधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई है।
बताते चलें कि थाना क्षेत्र के गाँव हन्नूखेड़ा में अडडा पर कुछ ग्राम पंचायत की जमींन पड़ी है। जिस पर लगभग 40 बर्ष से वंजारा जाति के आलम खाँ पुत्र शानू खाँ, इकरार पुत्र आलम खाँ, कमला पत्नी मदार आदि झोपड़ियां बना अपना जीवन यापन कर रहे है। ये लोग मेहनत मजदूरी कर अपना व अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। शनिवार की सुवह नगला कुआ निवासी आधा सैकड़ा पुरुष महिला छह बजे के लगभग पहुंचे। साथ लाए टैक्टर हैरो से जमींन समतल करने लगे। उक्त जगह पर रखी झोपड़ियों को तोड़ डाला और सामान उठाकर फेंक दिया। वहाँ रह रहे बंजारा जाती के लोगों को घर से बेघर कर दिया। थोड़ी देर में बरसात होंने लगी जिससे सारा सामान भींग गया। रसूखदारों का कहना है कि उक्त जगह का पट्टा उनके नाम है। जव वंजारों ने बिरोध किया तो रसूखदारों ने गाली गलौज कर मारपीट की और जगह खाली न करने पर जान से मारने की धमकी दी। घटना की सूचना थाना पुलिस को दी गई। सूचना पर थाने के एस आई कपिल बशिष्ठ मय फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। तब तक रसूखदार वहां से भाग चुके थे। पीड़िता नगीना पुत्री आलम खाँ ने बरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व जिलाधिकारी को दिये शिकायती पत्र में नगला कुआ निवासी सूरजपाल, महेश, रिशीपाल व प्रकाश पुत्रगण सियाराम, नरेंन्द्र, हरिगोविंन्द व गौतम पुत्रगण कन्हीलाल, सरवेश पुत्र सत्यपाल, ब्रजेश पुत्र खुशीराम, मोहन, जय सिंह, नीरज आदि ने उसकी झोपड़ियों को तोड़कर उक्त जगह को हैरो से समतल कर दिया। जव बिरोध किया तो गाली गलौज व मारपीट कर जान से मारने की धमकी दी