Tuesday , June 18 2024

आत्मनिर्भर और पीआईएल योजना के कारण भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे आकर्षक मैन्यूफैक्चरिंग हब

कोरोना के इस दौर में भारत ने अमेरिका को मैन्युफैक्चरिंग के मामले में पीछे धकेल दिया है.चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे पसंदीदा मैन्युफैक्चरिंग हब बन गया है.

वैश्विक विनिमार्ण जोखिम सूचकांक-2021 में चीन पहले स्थान पर बना हुआ है. वहीं, यूरोप, अमेरिका और एशिया-प्रशांत के 47 देशों में वैश्विक विनिमार्ण के लिए आकर्षक डेस्टिनेशन का आकलन करता है.

भारत परिचालन की परिस्थतियों और लागत दक्षता के चलते मैन्युफैक्चरिंग हब के तौर पर आकर्षण बढ़ा है. वहीं, इसके सालाना आधार के चलते भारत की रैंकिंग में काफी सुधार हुआ है.

भारत में आईफोन असेंबल करने वाली ताईवान की कंपनी विस्ट्रॉन कॉप अब लैपटॉप, मोबाइल, आईटी उत्पाद बनाएगी. इसके लिए भारत ने ऑप्टमिस इलेक्ट्रोनिक्स के साथ हाथ मिलाया है.