Sunday , March 3 2024

इटावा अफगानिस्तान और भारत के संबंध बेहतर रहे है- पूर्व सांसद सुभाषिनी अली

इटावा- ज़िला सम्मेलन में भाग लेने पहुँची मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की वरिष्ठ नेता एवं माकपा के पोलिट ब्यूरो की सदस्य पूर्व सांसद सुभाषनी अली ने कहा

अफगानिस्तान और भारत के संबंध बेहतर रहे ह इसलिए भारत सरकार को हस्तक्षेप करना पड़ेगा हमलोग अगर साम्प्रदायिक राजनीति की वजह से तालिबान को गाली देते रहेंगे तो वह उसपर रिएक्ट करेगे इसलिए हमलोगों को बहुत सुलझे हुए तरीके से काम करना चाहिए

तालिबान नया नया आया है हमे उन्हें मौका देना चाहिए कि वह जो कह रहे है वह करेंगे या नही,लेकिन यहां यू पी असेम्बली में बेठे लोग अपनी ओछी राजनीति के लिए तालिबान और उनकी मानसिकता को गाली देगे तो वो भी रिएक्ट करेगे इसलिए अपनी ओछी राजनीति को छोड़ विदेश नीति को बेहतर बनाने के लिए सरकार को कदम उठाने चाहिए

जो भी शरणार्थी अफगानिस्तान से आना चाहे उनका बगैर धर्म देखे उनको शरण देनी चाहिये, सरकार को तालिबान से बात किस तरह करनी चाहिए यह उन्हें सोचना पड़ेगा

लेकिन हमारे यहां कुछ लोग तालिबान के खिलाफ गाली देने का माहौल बना रहे है उससे कुछ फायदा नही होगा ऐसा करके ही हमने बांग्लादेशियों को गाली दे देकर उन्हें अपने खिलाफ कर लिया

तालिबान के जन्मदाता अमेरिका है रूस का प्रभाव कम करने के लिए तालिबान और मुजाहिदीन ग्रुप बनवाये उनको पाकिस्तान की मदद से फंडिंग करवाई हम उन कट्टर आतंकवादी संगठन के लिए तो बहुत बोलते है लेकिन यह आये कहाँ से इसकी कोई बात नही करना चाहता आज अमेरिका को अफगानिस्तान में पहली बार हार के मुंह देखना पड़ा है उसकी हार हुई है अफगानिस्तान में

कल हरियाणा में किसानों पर हुए लाठीचार्ज को बर्बर कदम बताया कहाँ किसान आंदोलन कर रहा है भाजपा नेताओं को काले झंडे दिखा रहा है यह कोई नई बात नही है, लेकिन जिस तरह वहां के अधिकारी किसानों के सर फोड़ने की बात कर रहे है उनका निलंबन होना चाहिए

प्रदेश से भाजपा की सरकार हटाने एवं किसान आंदोलन को लेकर लोगो मे और जागरूकता पैदा करना, आने वाले 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत को सफल बनाने के लिए रणनीति बन रही है

इस मौके पर माकपा के वरिष्ठ नेता मुकुट सिंह मौजूद रहे