Tuesday , April 16 2024

गोवर्धन में कृष्ण जन्म की बधाई के बीच सजा बालक कार्तिक गोस्वामी

 

यशोदा ने जायौ लल्ला, ब्रज में हल्ला सौ मच गयौ री तिरछी नजर ते नांय देखो, मेरे लाला कूं नजर लग जायेगी

मथुरा से अजय ठाकुर

मथुरा। भगवान श्रीकृष्ण के जन्म की खुशी कम नहीं हुई कि मंगलवार को पूरा ब्रज नंदोत्सव में उमंग, उल्लास और उत्साह में झूमता नजर आया। जिधर नजर गई उधर कान्हा के जन्म की खुशी दिखाई दी। नृत्य, गीत और थिरकन के बीच ललना को पलना में झुलाने के साथ-साथ मंदिरों में लुटाये गये पकवान, खिलौने और मेवा लूटने के लिए लाखों हाथ यूं ही मचलते रहे। भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव प्राकट्य स्थल मथुरा ही नहीं बल्कि समूचे ब्रजमंडल में धूमधाम से बनाया गया।

भोर होते ही नंद के घर आनंद भयौ जय कन्हैया लाल की गूंज सुनाई दी। रात्रि में जहां श्रद्धालु श्रीकृष्ण जन्म के अलौकिक एवं अद्भुत दर्शन कृतार्थ हुए वहीं सुबह नंद के लाला के घर जन्म की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। बधाई गायन तिरछी नजर ते न देखो, लाल मेरौ बड़ौ सलोनौ के भाव ने दर्शाया कि कहीं बाल रूप में आये नंद के लाला को कहीं नजर न लग जाये। गोकुल में तो मानो साक्षात द्वापर युग का उद्गार हो गया। मंगलवार को गोकुल में नंदोत्सव नन्द-चैक पर मनाने की परम्परा रही है। इसी के चलते आज नन्द चैक पर कृष्ण लला के जन्म की खुशी मनाई गई। यहां कृष्ण-लला को झूले में बैठाया गया और नन्द भवन के मुख्य मंदिर के सेवायत-पुजारियों द्वारा बधाई गायन कर सभी को कृष्ण-लला के जन्म की बधाई दी। इस मौके पर सेवायत पुजारी नन्द चैक पर मौजूद भक्तों की भीड़ पर प्रसाद-स्वरूप दधिकान्दा, कृष्ण-लला के खिलौने, मोती और अन्य आभूषण लुटाते रहे। गोकुल में विधिवत रूप से नंदोत्सव शुरू होने से पहले नन्द भवन के मुख्य मंदिर से नन्द चैक तक एक शोभा यात्रा निकाली गई और जिसमें कृष्ण-लला को पालकी में बैठाकर नन्द चैक तक लाया गया और इस दौरान भक्तगण बधाई स्वरूप बांटे जाने वाले उपहार लेकर नाचते-गाते हुए चल रहे थे। नंदोत्सव के बीच ब्रज में घनघोर बारिश ने आनंद के उत्साह को बढ़ा दिया। गिरिराज महाराज की तलहटी के दानघाटी मंदिर में सेवाधिकारी मथुरा दास कौशिक के सानिध्य में नंदोत्सव धूमधाम से मनाया गया। बालक कार्तिक गोस्वामी की कृष्ण रूपी छवि को भक्त निहारते रहे। नंदगांव में सेवायत लौकेश गोस्वामी के निर्देशन में समाज गायन के बीच बधाई का आयोजन किया गया। मथुरा के द्वारिकाधीश मंदिर में लाला को पालना में झुलाकर बधाई लुटाई गई। वृंदावन के इस्काॅन मंदिर, बांकेबिहारी जी मंदिर, राधारमण मंदिर, चन्द्रोदय मंदिर आदि में नंदोत्सव मनाया गया। ब्रज के कलाकार राजेश प्रसाद शर्मा के निर्देशन में नंदोत्सव के उपलक्ष्य में मयूर नृत्य, बधाई गायन व नृत्य का आयोजन किया गया।
——————————–