Friday , July 12 2024

योगी सरकार में अधिकारी कर रहे आत्महत्या, प्रशासन का पुलिस पर नियंत्रण नही

अर्जुन तिवारी उन्नाव
यूपी सरकार में अपर मुख्य सचिव के पर्सनल सेक्रेटरी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली । अपर मुख्य सचिव रजनीश दुबे के निजी सचिव विश्वम्भर दयाल की बहन का ससुरालीजनों के साथ विवाद चल रहा था। मामले में बहन ने औरास थाने में छेड़छाड़ समेत आधा दर्जन धाराओं में ससुरालीजनों पर केस दर्ज करवाया दिया था।
कई बार फोन करके औरास थाना प्रभारी को इस संबंध में जानकारी दी हुई थी कि फिर भी औरास पुलिस अधिकारी द्वारा कोई एक्शन नहीं लिया गया जिसके कारण काफी परेशान थे विशंभर दयाल।
सुसाइड नोट मिलने पर सोमवार रात आईजी रेंज लखनऊ व एसपी ने औरास थाने पहुंच कर तीन घंटे तक मामले की छानबीन की है। मामले में पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी हुई है।

*यह था मामला जिसको लेकर थे विशंभर दयाल थे काफी परेशान*
औरास थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी महिला ने पुलिस में शिकायती पत्र देकर 9 अगस्त को केस दर्ज करवाया और बताया कि 7 अगस्त की शाम वह खेत से वापस घर आ रही थी। रास्ते में घात लगाए बैठे पड़ोसी बाबूलाल उसे पकड़ लिया और बदसलूकी करने लगा। पीड़िता ने विरोध करते हुए धक्का देकर चिल्लाते हुए घर में घुस गई। गांव के दो युवकों ने बाबूलाल को ललकारा तो कुछ देर बाद बाबूलाल, ज्ञान प्रकाश, वीरू, बृजेश, पप्पू व हरिप्रसाद ने पीड़िता के घर पर चढ़ाई कर दी। पीड़िता को मारापीटा और बचाने आई बेटी को गालिया दी और बाबूलाल के बेटे ने उससे भी बदसलूकी की। सभी गाली देते हुए जान से मारने की धमकी देकर चले गए। पीड़िता ने पुलिस में शिकायती पत्र देकर जान माल का खतरा बताते हुए छेड़छाड़ समेत आधा दर्जन धाराओं में बाबूलाल, ज्ञान प्रकाश, वीरू, बृजेश, पप्पू व हरिप्रसाद पर केस दर्ज करवाया था।
उन्नाव पुलिस अधीक्षक अविनाश पांडेय ने तत्काल प्रभाव से निरीक्षक हर प्रभाव अहिरवार थाना औरास व उपनिरीक्षक तमिजुद्दीन को निलंबित कर दिया है ।
निरीक्षक अतुल तिवारी को प्रभारी IGRS से प्रभारी निरीक्षक औरास बनाया गया है
*अर्जून तिवारी उन्नाव न्यूज*