Sunday , May 26 2024

दोहरे हत्याकांड की जड़ में दहेज उत्पीड़न, 5 के खिलाफ एफआईआर

सुबोध पाठक

जसवंतनगर(इटावा)। गुरूवार दोपहर नगर के मोहल्ला जानकीपुरम मे हुये दोहरे हत्याकांड के मामले मे लगभग 24 घंटे बाद एफआईआर दर्ज करवाई गई है।इस हत्याकांड के पीछे दहेज उत्पीड़न का मामला प्रकाश में आया है। मृतक रामशंकर के भाई रामप्रकाश ने नेहा की सांस, ससुर, देवर, ननद, तथा पति के खिलाफ दहेज उत्पीडन तथा हत्या का मामला दर्ज कराया है।
पुलिस ने इस मामले मे तीन लोगो को गिरफतार कर इस घटना मे प्रयुक्त की गई रायफल को भी बरामद कर लिया है । धारा 302, 307, 498ए, 109, 323, 504,506,तथा 3/4 के तहत थाना जसवंतनगर मे मामला दर्ज हुआ है।

एफआईआर की दर्ज कराने वाले बादी रामप्रकाश पुत्र रामस्वरूप निवासी ग्राम भीखनपुर ने तहरीर में कहा है कि उसकी भांजी नेहा की शादी शिवम पुत्र सर्वेश कुमार उर्फ फौजी हाल निवासी जानकीपुरम रेलमंडी के साथ 29 जून 2020 को हुई थी। मेरे बहनौई ने सामर्थ्य अनुसार दहेज दिया था, मगर मेरी भांजी नेहा का पति शिवम , उसके पिता सर्वेश, मा सुनैश देवी, ननद विशाखा, तथा देवर विकास आये दिन कम दहेज लाने के लिए मारपीट व प्रताड़ित करते रहते थे ।कई बार जान से मारने का प्रयास भी किया। दो बार पंचायत भी हुई, मगर ससुराली लगातार परेशान करते रहे ।
2 सितम्वर 2021 को पुनः अपने बहनोई जोगेन्द्र व अपने भाई रामशंकर तथा अपनी भांजी नेहा की बडी बहिन प्रियंका के ससुर कैलाश चन्द्र निवासी मनौना थाना करहल जिला मैनुपरी तथा रबीन्द्र कुमार, रामू यादव निवासीगण रेलमंडी जसवंतनगर को साथ लेकर नेहा की ससुराल सर्वेश यादव फौजी के घर दोपहर 1 बजे के लगभग पंचायत करने गया हुआ था ,तभी बातचीत शुरू नही हो पाई थी ,तभी नेहा की सास सुनैश देवी, पति शिवम, व देवर विकास, ने अपने पिता सर्वेश कुमार को फायर करने के लिए उकसाया और सभी को गाली गलौज करते हुये जान से मरवाये जाने की धमकी देने लगे। इतने मे ही मेरी भाजी नेहा के ससुर सर्वेश कुमार अपनी लाइसेंसी रायफल लेकर आया और फायर करने लगा ,पहला फायर मेरे भाई रामशंकर पुत्र रामरूवरूप को लगा , दूसरा व तीसरा फायर कैलाश चन्द पुत्र मुकुट बिहारी को लगा प्रार्थी बाल बाल बचा तथा आसपास के घरा मे घुसकर जान बचायी।

प्रार्थी भागकर थाने आया, तो चौराहे पर पुलिस की गाडी मिल गयी और पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस मेरे साथ ही चल दी और घटनास्थल पहुॅची। पुलिस घटना मे गोली से घायल कैलाश चन्द्र को सीएचसी जसवंतनगर ले गयी, जहां उन्हे डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। घटना मे गोली से घायल दूसरे रामशंकर को जेपी हॉस्पीटल इटावा ले जाया गया, जहा डाक्टरो ने उन्हे भी मृत घोषित कर दिया।
इस घटना मे बादी रामप्रकाश ने कुल मिलाकर 5 को नामजद किया है।