Saturday , May 25 2024

सांसद प्रतिनिधि देवेंद्र सिंह यादव के बेटे के निधन पर शोक सम्बेदना में मैनपुरी पहुँचे अखिलेश यादव

 

पंकज शाक्य
मैनपुरी- मंगलवार की सुबह जनपद मैनपुरी में सांसद प्रतिनिधि देवेंद्र सिंह यादव के बेटे के निधन के बाद सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंचे। जहां पर श्री यादव ने पत्रकारों से हुई वार्ता में भाजपा सरकार पर जमकर निशाना सादा। श्री यादव ने कहा कि जहाँ तक जनपद मैनपुरी का प्रश्न है ये समाजवादियों का गढ़ है। यहाँ की जनता ने नेता जी का और समाजवादी पार्टी का हमेशा समर्थन किया है। नेता जी के प्रति यहाँ की प्रत्येक जनता का प्रेम और सम्मान हमेशा बना रहा है। इस क्षेत्र के चहुमुखी विकास के लिए समाजवादी पार्टी ने लगातार कोशिश की है। यहाँ पर विकास के कई कार्य हुए है। सवाल सबसे बड़ा ये है कि बीजेपी की 2 सरकारें हैं एक दिल्ली की और दूसरी यूपी की।इस डबल इंजन की सरकार में हमें लगता है कि ड्राइवर भाग गए हैं या इस डबल इंजन की सरकार को चलाने वाले लोगों को विकास दिखाई नहीं दे रहा है और ना ही विकास करना चाहते हैं। इस सरकार ने मण्डी की व्यवस्था चौपट कर दी, किसानो की आय को दोगुनी करने का जो वादा किया। उनकी फसल की पैदावार की आय तो नहीं दोगुनी हुई बल्कि डीजल पेट्रोल सहित जो भी जरूरत की सामान की चीजें थी उनके रेट दोगुने जरूर हुए है। नौकरी रोजगार है नहीं, पुलिस भर्ती और फ़ौज की भर्ती कर नहीं पा रहे। आगे श्री यादव ने कहा कि बीजेपी पॉलिटिकल आउटफिट है। आरएसएस की जैसा प्रकोष्ठ होता है वैसा आरएसएस का प्रकोष्ठ है। बीजेपी इसलिए उस पर ध्यान नहीं देना है, असली मुद्दे हैं विकास के बेरोजगारी के रोजगार के। आप ही बताये आज राष्ट्रीय संपत्ति बेची जा रही है कहते हैं राष्ट्र सर्वोपरि है। जो लोग यह दावा करते थे, झूठ का आज उनकी पोल खुल गई। आपको एयरपोर्ट खरीदना हो तो पैसे ले आओ, पानी का जहाज खड़ा करने का पोर्ट चाहिए, तो पैसे ले आओ, रेलवे का ट्रैक खरीदना हो, तो पैसे ले आओ, रेलवे की सारी जमीन बेंच दीं, बड़ी बड़ी कंपनियां बेंच दीं, टेलीफोन की कंपनियां बेंच दीं। आने वाले समय में सब स्टेशन भी बिक जाएगा। यहां तक कि गली और मोहल्ले के तार भी बिच जायेंगे और बाद में बिल आपको ज्यादा देना पडेगा।
भाजपा के प्रबुद्ध सम्मेलन को लेकर कहा कि जो सम्मेलन कर रहे हैं, यह झूठे सम्मेलन है। असली मुद्दों के सम्मेलन नहीं करेंगे, यह बताएं इनके संकल्प पत्र का कौन सा काम पूरा हो गया।  भारतीय जनता पार्टी का जो संकल्प पत्र था। उसमें पहले पन्ने पर लिखा है कि किसानों की आय दुगनी करेंगे और दूसरे पन्ने पर लिखा है, उत्तर प्रदेश में ढेरी को लेकर के नई योजना बनाएंगे। जिससे डेरी को बढ़ावा दे सके और ग्रामीणों की अर्थव्यवस्था को बेहतर कर सकें भारतीय जनता पार्टी ने दोनों पन्ने फाड़ दिए। अपना संकल्प पत्र कूड़ेदान में फेंक दिया। इसलिए चुनाव से पहले अलग-अलग मुद्दे उठा रही है।
उन्होंने कहा कि गाय माँ का सम्मान होना चाहिए तो दूसरी तरफ गंगा मैया को भी साफ़ होना चाहिए। इसलिए बीजेपी से बचो, इनके झूठ से बचो, इनके झूठे प्रचार से बचो। देश की और दुनिया की सबसे झूठी पार्टी अगर कोई है, तो वो है भारतीय जनता पार्टी। आगे श्री यादव ने हिंदुत्व को लेकर के कहा सभी लोग हिंदू हैं और जितने भी आए हैं। घर में अगरबत्ती जलाकर आए हैं। हम भी अगरबत्ती जला कर आये है, भाजपाई कहीं अगरबत्ती नही जलाते ये सिर्फ नफरत फैलाते है। जिसके बाद शिवपाल यादव को ले करके कहा कि मैं कई बार सफाई दे चुका हूं और कई  बार इस पर बात रख चुका हूं कि उनका भी एक छोटा दल हैं। उनके लिए समाजवादी पार्टी शीट छोड़ेगी और उनका पूरा सम्मान होगा बातचीत फ़ोन पर भी हुई है। जिसके बाद वह सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष दीप सिंह पाल के आवास के लिए निकल गए। जहां इस पूरे कार्यक्रम के दौरान पूर्व सपा सांसद तेजप्रताप यादव, सदर विधायक राजकुमार यादव, सुरजसिंह, पूर्व राज्यमंत्री आलोक शाक्य समेत तमाम सपा नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।