Tuesday , May 28 2024

डौडिया खेड़ा में मनमाने ढंग से परिषदीय विद्यालय चला रहे हैं, प्रधान शिक्षक

उन्नाव 8सित.पब्लिक की लहर।भले ही वर्तमान योगी सरकार बुनियादी शिक्षा पर नौनिहालों के लिए पानी की तरह पैसे बहा रही हो लेकिन बैसवारा केसरी राजा राव राम बक्श सिंह की जमीन और विधानसभा अध्यक्ष के विधानसभा क्षेत्र में बुनियादी शिक्षा की हालत अत्यंत दयनीय है। इसकी सीधी बानगी परिषद द्वारा संचालित उन्नाव जनपद के प्राथमिक विद्यालय डौडिया खेड़ा में देखने में आई।

मिली जानकारी के मुताबिक प्राथमिक विद्यालय डौडिया खेड़ा उन्नाव में सरकारी आदेशों व निर्देशों के अनुसार नहीं बल्कि प्रधान शिक्षक का फरमान चलता है। जिसके चलते यहां के नौनिहाल मूलभूत बेसिक शिक्षा से वंचित हैं । विद्यालय के लिए शिक्षा विभाग प्रति माह एक मोटी रकम खर्च करता है, किंतु इसका समुचित लाभ यहां के शिक्षार्थियों को नहीं मिल पा रहा है।
यहां के प्रधान शिक्षक श्री कृष्ण उर्फ श्री केशन अपने ढंग से विद्यालय संचालित कर रहे हैं। इस संबंध में स्कूल के पास ही रहने वाली जमील की पत्नी ने बताया कि उसकी पुत्री महक कक्षा 3 के प्रवेश के लिए प्रधान शिक्षक उसे लगातार दौड़ा रहे हैं। इसके अलावा इन्हीं का कक्षा 5 में पढ़ने वाले पुत्र का कहना है कि स्कूल में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं है जब कभी स्कूल का निरीक्षण होने वाला होता है, तब प्रधान शिक्षक बच्चों को घरों से बुला लाते हैं।
स्कूल के पास ही रहने वाली अभिभावका रामरन की पत्नी ने भी इस संबंध में बताया कि स्कूल में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं है।
स्कूल में कुक-डे मील भोजन के नाम पर कुछ भी नहीं है। कुक- डे -मील के संबंध में यदि कोई जानकारी की जाती हैं तो यहां तैनात शिक्षामित्र आनंद कुमारी बच्चों से बताती हैं कि “सब जने तहरी बतायौ, तहरी “।
यहां तैनात एक अन्य शिक्षामित्र राजेश कुमार का कहना है कि स्कूल की चाभी प्रधान शिक्षक के ही पास रहती है और वह जब स्कूल आते हैं कभी स्कूल खुलता है । अन्यथा यहां पर अमूमन ताला लटका रहता है।
एक तरह से कहा जाए तो प्राथमिक विद्यालय डोडिया खेड़ा में सरकारी आदेश और निर्देश नहीं चलते हैं ।यहां पर प्रधान शिक्षक का ही हिटलरी फरमान चलता है और प्रधान शिक्षक अपने ढंग से स्कूल को संचालित कर रहे हैं ।सूत्रों की मानें तो प्रधान शिक्षक को राजनीतिक वरद हस्त मिला हुआ है। जिसके रहते हैं वे यहां के नौनिहालों के साथ शिक्षा के नाम पर खिलवाड़ कर रहे हैं ।अगर कोई सम्भ्रान्त व्यक्ति विद्यालय जा कर बच्चों के एडमिशन से लेकर मिडडेमील मध्यन भोजन की जानकारी करना चाहे तो प्रधान शिक्षक सही जानकारी न देकर हंसी उडाने का काम करते हैं।इससें लगता है कि विद्यालय मे बच्चों को कैसी शिक्षा मिल रहीं हैं।और बच्चों कैसा संस्कार मिल रहें है ।
अंग्रेजों से लोहा लेने वाले बैसवारा केसरी राजाराम राव बक्स सिंह की जमीन पर शिक्षा का यह हाल है तब प्रदेश के अन्य परिषदीय प्राइमरी स्कूलों में क्या हाल होगा इसका अंदाज लगाया जा सकता है। और तो और भगवंत नगर विधानसभा क्षेत्र में डौडिया खेड़ा आता है यहां के वर्तमान विधायक श्री हृदय नारायण दीक्षित जी हैं, जो इस समय उत्तर प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष पद पर सुशोभित हैं। शिक्षक और शिक्षार्थी के कर्तव्यों को माननीय विधानसभा अध्यक्ष भली भांति जानते हैं ।माना जा रहा है कि ऐसे में प्रधान शिक्षक की मनमानी अब कहां तक चलेगी ?