Sunday , May 26 2024

गैस्ट्रिक और आंतों की समस्या को दूर करने के लिए कसूरी मेथी का ऐसे करें सेवन

कसूरी मेथी (Kasuri methi) एक ऐसी जड़ी-बूटी है, जिसके अनेकों स्वास्थ्य लाभ होते हैं। आयुर्वेद में भी कसूरी मेथी (Dried fenugreek leaves) को औषधि माना गया है और इसका उपयोग कई तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए भी किया जाता है। इसमें कैल्शियम, आयरन और विटामिन-सी होता है जो शरीर को कई प्रकार के इंफेक्शन से बचाता है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण भी होता है जो त्वचा और बालों से जुड़ी समस्याओं के लिए एक बेहतर विकल्प है।

जिन लोगों के पेट में इंफेक्शन रहता है, उन्हें हर दिन कसूरी मेथी का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा, कसूरी मेथी का रोजाना सेवन करने से दिल, गैस्ट्रिक और आंतों की समस्या नहीं होती है। अगर पेट की समस्या है, तो पत्तियों को सुखाकर पीस लें और इसमें कुछ बूंदें नींबू की मिलाएं। इसके बाद इसे उबले पानी के साथ लें।

भारत में हर 4 में से 3 महिलाएं एनीमिया से पीड़ित हैं। ऐसी स्थिति में महिलाओं के लिए मेथी का सेवन करना फायदेमंद होता है, क्योंकि इसमें बहुत अधिक मात्रा में आयरन होता है, जो शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता है। इसलिए, यदि एनीमिया से जूझ रहे हैं, तो आहार में मेथी के पत्तों को जरूर शामिल करना चाहिए।

कसूरी मेथी के पत्तों को चबाकर बहुत ही कम समय के अंदर वजन को कम कर सकते हैं। इसका खाली पेट सेवन करें। इसमें मौजूद घुलनशील फाइबर से पेट जल्दी भर जाता है और बार-बार भूख नहीं लगती है।