Sunday , June 23 2024

वकील और पूर्व सैनिक के बीच हुई मारपीट का मामला गहराता जा रहा है गिरफ्तारी न होने पर पूर्व सैनिकों ने धरना करने की दी धमकी

 

पूर्व सैनिक पत्नी स्नेहलता द्वारा 8 सितंबर 21 को पुलिस अधीक्षक को दिए गए प्रार्थना पत्र पर मुकदमा पंजीकृत कर अपराधी वकीलों की हो गिरफ्तारी। आज उन्नाव जिले के सभी पूर्व सैनिक संगठनों अखिल भारतीय पूर्व सैनिक सेवा परिषद उन्नाव जिलाध्यक्ष संजय सिंह फौजी की अध्यक्षता में पूर्व सैनिक विजय सिंह पर कचहरी परिसर में वकीलों द्वारा मारना पीटना और पुलिस बुलाकर फर्जी 307 मुकदमा पंजीकृत कर बंद करवा देना। इस पर आज अखिल भारतीय पूर्व सैनिक संगठनों की तरफ से पुलिस अधीक्षक महोदय को ज्ञापन देकर पूर्व सैनिक पत्नी का मुकदमा पंजीकृत कर अपराधी वकीलों की गिरफ्तारी की मांग की गई गिरफ्तारी न होने की दशा में जल्द ही जिले के पूर्व सैनिक बताए स्थान पर धरने पर बैठ जाएंगे। ज्ञापन देने के दौरान पूर्व सैनिको के द्वारा नारेबाजी से नाराज दिखे पुलिस अधिकारी ने दुबारा ऐसे नारेबाजी न करने की सख्त हिदायत दी कि कोविड के समय किसी ऑफिस में ऐसे नारेबाजी करने पर मुकदमा पंजीकृत कर दूंगा ।
नगर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन देने के बाद ग्रीन पैलेस में सामूहिक सैनिक संगठनों की तरफ से प्रेस वार्ता कर अपनी बात रखी गई इस मौके पर प्रमुख रूप से संजय सिंह फौजी के साथ सूबेदार एके दीक्षित प्रदेश अध्यक्ष वेटरन एसोसिएशन , जिलाध्यक्ष जितेंद्र सिंह इंडियन वेटरन ऑर्गेनाइजेशन, जिलाध्यक्ष राजेश सिंगर वेटरन एसोसिएशन पूर्व सैनिक संगठन, जिलाध्यक्ष एसके द्विवेदी पूर्व सैनिक शिक्षक संगठन, चंद्रशेखर अवस्थी राष्ट्रीय महासचिव बैंक यूनियन पूर्व सैनिक संगठन, राजेश यादव जेएस तिवारी पीड़ित विजय कुशवाहा राजदीप सिंह विशेश्वर यादव कन्हैया लाल कैप्टन आर जी मिश्रा कैप्टन विष्णु गॉड रमाकांत संजय कुशवाहा महेश कुशवाहा कैप्टन नरेंद्र चंदेल कैप्टन राम सिंह यादव राजकुमार रावत एपी चौरसिया आज पूर्व सैनिक उपस्थित रहे।
सवाल यह है कि वकील और पूर्व सैनिकों के मध्य विवाद दिन प्रतिदिन गहराता जा रहा है । अब ये लड़ाई प्रतिष्ठा से जुड़ती जा रही है। प्रशासन भी फुक फुक कर कदम रख रहा है जिससे स्थिति बिगड़ न पाए।
अर्जून तिवारी उन्नाव संवाददात