Saturday , May 25 2024

मैनपुरी बारिश ने बरपाया कहर, कई गांवों की बत्ती गुल

पंकज शाक्य

मैनपुरी गुरुवार को जनपद मैनपुरी समेत आसपास में इलाके में हुई बारिश ने मानो तबाई मचा दी हो। कहीं किसानों की फसलें चौपट हुई है। तो कहीं तेज हवाओं से बिजली के खंबे धराशाही हो गए। विद्युत पोलों के टूटने से कई गांवों की बत्ती गुल हो गई। बिजली जाने से लोग पीने के पानी को भी तरस गए। जिन ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत पोलों का ज्यादा नुकसान नहीं हुआ था वहां के अधिकतर ग्रामों में शाम तक विद्युत आपूर्ति सुचारू कर दी गई। जहां काफी मात्रा में विद्युत पोल टूटे है। वहां पर विद्युत कर्मियों की टीमों के द्वारा आपूर्ति सुचारू करने के प्रयास लगातार जारी है।


इस आपदा में हुए नुकसान में अकेले कुरावली उपखंड कार्यालय से जुड़े ग्रामों में करीब 60 से 65 पोल टूटे है। जिसके साथ ही दो ट्रांसफार्मर भी क्षतिग्रस्त हुए है। जब नुकसान के आंकलन के लिए कुरावली उपखंड के उपखंड अधिकारी संजीव कुमार से बात की तो उन्होंने बताया कि अकेले हमारे उपखंड क्षेत्र में अनुमानित नुकसान करीब आठ लाख से नौ लाख के करीब हुआ है। हमारे विद्युत कर्मियों की टीमें विद्युत आपूर्ति को सुचारू करने में लगी हुई है। प्रयास है कि जल्द ही सभी गांवों में विद्युत आपूर्ति सुचारू कर दी जाएगी। जिन ग्रामों में ज्यादा नुकसान हुआ है। वहां विद्युत पोलों का आंकलन कर जल्द ही विभाग से पोल मंगवाकर आपूर्ति सुचारू कर दी जाएगी।

जिले भर में करीब 50 लाख से ऊपर का हुआ है नुकसान
इस बारिश ने मानो इस कदर विद्युत विभाग पर कहर बरपाया है कि मानो पूरे जिले में अंधेरा सा छा गया है। जब पूरे जिले के हालत की जानकारी के लिए अधीक्षण अभियंता अतुल कुमार अग्रवाल से बात की गई। तो उन्होंने बताया कि इस बारिश में हमारे विभाग को करीब 50 लाख से ऊपर का नुकसान हुआ है। जिले। के करीब सभी विद्युत सब स्टेशन लाइन में कमी आने के कारण बंद हो गए थे। देर शाम तक 33 केबी की लाइनों को सही किया जा सका। जिसके बाद रात्रि में हमारे विद्युत कर्मी उपभोक्ताओं के घरों को पहुंचाने में लग गए। देर रात्रि तक अधिकतर सब स्टेशन चालू कर दिए गए थे। अब उन क्षेत्रों की विधुत आपूर्ति बाधित है। जहां काफी मात्रा में पोल क्षतिग्रस्त हुए है। जल्द ही स्टीमेट बनाकर पोल भेजकर लाइनों को सही कराकर विद्युत आपूर्ति सुचारू करा दी जाएगी। बिजली के ना पहुंचाने से लोगों के घरों में पीने के पानी की समस्या ज्यादा गहरा गई है। हमारा और हमारे विद्युत कर्मियों का सभी क्षेत्रों की विधुत आपूर्ति जल्द से जल्द सुचारू होने का प्रयास है।