Tuesday , May 28 2024

आगरा पिनाहट में तेज बुखार के चलते पूर्व प्रधान पुत्र की मौत,दहशत में ग्रामीण

बालकिशन शर्मा

। पिनाहट डेंगू व रहस्मय बुखार ने बड़े पैमाने पर अपने पैर पसारना शुरू कर दिए हैं। रविवार को रहस्मय बुखार के चलते पूर्व प्रधान पुत्र की मौत हो गई। मौत की सूचना मिलते ही घर में कोहराम मच गया है ।वही पिनाहट में डेंगू और बुखार के चलते लगातार हो रही मौत से ग्रामीण दहशत में आ गऐ हैं।

जानकारी के अनुसार पिनाहट ब्लॉक की ग्राम पंचायत चचिहा के पूर्व प्रधान रवि पांडे अपने परिवार के साथ पिनाहट कस्बे के रामलीला रोड स्थित मैदान के पास रहते हैं। पूर्व प्रधान रवि पांडे ने बताया कि शनिवार को उनके 14 वर्षीय पुत्र छोटू को तेज बुखार आया।तेज बुखार आने पर उसे फतेहाबाद के एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया ।जहां रविवार सुबह 5 बजे अचानक तेज बुखार के बाद प्लेटस कम होने के चलते उसकी स्थिति गंभीर हो गई। डॉक्टरों ने उसे आगरा ले जाने की सलाह दी ।आगरा ले आते समय किशोर ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। वहीं बुखार के चलते किशोर की मौत के बाद परिजनो में कोहराम मच गया।पिनाहट की गलियों में लगे गंदगी के अंबार व जल भराव की स्थिति, ग्रामीणों में आक्रोश

पिनाहट।कस्बा निवासी अनिल, राजू, हरिश्चंद्र आदि ग्रामीणों का आरोप है कि चचिहा रोड की गलियों में गंदगी का अंबार लगा हुआ है और  बस्तियों के आसपास जलभराव की स्थिति बनी हुई है ।जिसके चलते लगातार मच्छरो का प्रकोप बढ़ रहा है ।जिससे डेंगू व रहस्मय बुखार जैसी घातक बीमारियां पनप रही है ।और लोग लगातार रहस्मय बुखार से पीड़ित होते चले जा रहे हैं। आरोप है कि सूचना के बावजूद भी नगर पंचायत द्वारा कस्बे में साफ-सफाई , फागिंग व एंटी लारवा का छिड़काव नहीं कराया गया है।

झोलाछाप के इलाज से आईसीयू में पहुंचा बुखार से पीड़ित व्यापारी पुत्र गंभीर

-स्याहीपुरा में डेंगू के मरीज का इलाज कर रहा था झोलाछाप, जांच कराने पर खुली पोल,गंभीर स्थिति में आईसीयू में भर्ती

पिनाहट ।पिनाहट क्षेत्र स्याहीपुरा में एक झोलाछाप की बड़ी लापरवाही सामने आयी है।झोलाछाप बिना जांच बुखार से पिडित एक किशोर का इलाज कर रहा था। और इलाज के बाद भी किशोर की स्थिति में कोई सुधार नजर नहीं आया। और स्थिति बिगड़ने लगी। तो परिजन गंभीर स्थिति में किशोर को लेकर आगरा पहुंचे। जहाँ जांच रिपोर्ट में डेंगू की पुष्टि हुई है। डॉक्टरों ने गंभीर स्थिति देख आईसीयू में भर्ती किया है।

थाना बसई अरेला के गांव नगला भरी निवासी कपड़ा व्यापारी अशोक वर्मा का 17 वर्षीय पुत्र अटल सोनी सोनी को गुरुवार को तेज बुखार आया। तेज बुखार आने पर अटल सोनी स्याहीपुरा पर स्थित एक झोलाछाप के क्लीनिक पर दवा लेने पहुंच गया॥ झोलाछाप ने बिना जांच के ही उसका इलाज करना शुरू कर दिया।झोलाछाप की दवा खाने के बाद भी व्यापारी पुत्र को आराम नहीं मिला। और उसकी स्थिति बिगड़ गई ।स्थिति बिगड़ती देख परिजन किशोर को लेकर जी आर हॉस्पीटल आगरा पहुंचे। जहां पैथोलॉजी पर जांच कराई।तो जांच में डेंगू की पुष्टि हुई और प्लेट 40 हजार रह गयी। किशोर की स्थिति गंभीर देख परिजनो ने आनन-फानन में जी आर हॉस्पिटल आगरा में भर्ती कराया दिया।जहां डॉक्टरों ने उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए आईसीयू में भर्ती कर दिया है। फिलहाल वह बोलने की स्थिति में नहीं है ।अभी स्थिति में कोई सुधार नहीं आया है।

मृतक के गांव में नहीं कराया गया एंटी लारवा का छिड़काव व फागिंग, ग्रामीणों में आक्रोश

पिनाहट ।पिनाहट ब्लॉक की ग्राम पंचायत खेरडांडा के गांव भावनाथ की ठारि में डेंगू के चलते किसान सुदामा के 13 वर्षीय पुत्र वीकेश की मौत हो गई थी ।वीकेश की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग ने गांव में कैंप लगाया था। और करीब 92 मरीजों का चेक अप किया था ।ग्रामीण राजेंद्र व हीरा सिंह का आरोप है कि सूचना और आश्वासन के बाद भी गांव में स्वास्थ्य विभाग द्वारा एंटी लारवा का छिड़काव नहीं कराया। और न ही गांव में मच्छरों को भगाने के लिए फागिंग कराई गई है। गांव में लगाता मरीजों की संख्या फिर से बढ़ने लगी है ।जिससे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही साफ नजर आ रही है। गांव में जलभराव की भी स्थिति बनी हुई है ।