Tuesday , May 28 2024

आगरा पिनाहट में एक दिन में तीन बच्चों की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग के अपर निर्देशक एवं संयुक्त निदेशक ने गांव में लगाई दौड़

बालकिशन शर्मा

पिनाहट ।पिनाहट में वायरल फीवर और डेंगू के चलते हो रही लगातार मौतों के चलते स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ी हुई है। पिनाहट में एक दिन में वायरल फीवर के चलते तीन बच्चों की मौत हो गई ।जिस पर स्वास्थ्य विभाग के अपर निर्देशक एवं संयुक्त निर्देशक मृतकों के गांव में दौड़ लगाते हुए नजर आए। और मृतकों के परिजनों से बातचीत कर मौत का कारण जाना ।वहीं परिजनों ने बताया कि बुखार आने के बाद बच्चों की लगातार मौत हो रही है ।
जानकारी के अनुसार बुधवार को पिनाहट में तेज बुखार के चलते दो बच्चियों व एक बच्चे सहित तीन की मौत हो गई थी ।वही एक दिन में तीन बच्चों की मौत होने पर गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग के अपर निदेशक डॉक्टर ए के सिंह व संयुक्त निर्देशक डॉ प्रदीप शर्मा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिनाहट पहुंचे ।जहां से सीएचसी अधीक्षक डॉ विजय कुमार के साथ सबसे पहले कस्बे के मोहल्ला मल्लन टूला में राजेंद्र के घर पहुंचे । जहां राजेंद्र के 3 वर्षीय पुत्र अमन की तेज बुखार के चलते मौत हो गई थी। अपन निदेशक एवं निदेशक ने परिजनों से बात की। परिजनो ने बताया कि बच्चे को 2 दिन से बुखार आ रहा था ।जिसका आगरा केक हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान बुखार से मौत हो गई है। इसके बाद गांव राटौटी में प्रमोद शर्मा के घर पहुंचे । प्रमोद शर्मा की 8 वर्षीय प्राची की भी तेज बुखार के चलते मौत हो गई थी।परिजनो ने अपर निदेशक व संयुक्त निदेशक को बताया कि मंगलवार शाम को प्राची को बुखार आया ।और भदरौली के एक झोलाछाप पर दवा दिलवाई ।अचानक रात्रि में तबियत बिगड़ गई ।पेट दर्द और उल्टी की शिकायत हुई। गंभीर स्थिति में इलाज के लिऐ आगरा ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। वहीं तीसरी मौत गांव मेदीपुरा निवासी मनोज की 4 वर्षीय पुत्री प्रज्ञा की हुई थी । प्रज्ञा के नाना व  मां बुखार की दवा दिलवाने के लिए पिनाहट ला रहे थे ।तभी रास्ते में उसकी मौत हो गई थी। वही एक दिन में तीन बच्चों की  मौत होने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है ।स्वास्थ्य विभाग गांव-गांव दौरा कर ग्रामीणों को जागरूक कर रहा है। अपने घरों में ,फ्रिज में ,घरों के आसपास किसी भी प्रकार का पानी जमा न होने की सालह दी है। स्वास्थ्य विभाग के अपर निदेशक डॉ ए के सिंह ने पिनाहट सीएचसी अधीक्षक डॉ विजय कुमार को मृतकों के गांव में लगातार कैंप लगाने , दवा का छिड़काव कराने  व फागिंग कराने के निर्देश दिए हैं ।