Saturday , December 2 2023


आगरा पिनाहट में झोलाछाप डेंगू व वायरल फीवर के मरीजो को चढ़ा रहा था ड्रिप,दो क्लीनिक सीज

 

पिनाहट। पिनाहट क्षेत्र में बड़े पैमाने पर झोलाछपो ने क्लीनिक खोल रखे है ।जिन पर बिना रजिस्ट्रेशन, बिना अनुभवी डॉक्टर ,और बिना डिग्री के डेंगू जैसी घातक बीमारियों के मरीजों का इलाज किया जा रहा था।और अवैध पैथोलॉजी संचालक गलत रिपोर्ट तैयार कर रहे थे। झोलाछापो की लापरवाही व अवैध पैथोलॉजी संचालकों की गलत रिपोर्ट के चलते कई मरीजों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है। शिकायत पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्याहीपुरा में झोलाछाप व अवैध पैथोलॉजी संचालक के खिलाफ छापामार कार्रवाई की है। घर में बने अस्पताल में भर्ती  डेंगू व बुखार के मरीजों को झोलाछाप ड्रिप चढ़ाते हुए पाए गए हैं। जिन्हें गंभीर स्थिति में एम्बुलेंस से आगरा रेफर किया गया है।  वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम को देख झोलाछाप अपने क्लीनिक छोड़कर भाग गए

झोलाछापो व अवैध पैथोलॉजी संचालकों के खिलाफ लगातार मिल रही शिकायत पर बुधवार को पिनाहट सीएचसी अधीक्षक डॉ विजय कुमार स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ छापामार कार्रवाई के लिए स्याही पुरा पहुंचे। स्वास्थ्य विभाग की टीम को देख झोलाछापों में हड़कंप मच गया । और झोलाछाप अपने-अपने की में बंद कर भाग गए ।  स्वास्थ्य विभाग की टीम को स्याहीपुरा चौराहे पर झोलाछाप निखिल सरकार का डॉ बंगाली के नाम से क्लीनिक खुला मिला। क्लीनिक पर कोई मरीज नहीं मिला। लेकिन क्लीनिक पर मरीजो के तीमारदारो की भीड़ लगी थी। जिस पर स्वास्थ्य विभाग का शक गहरा गया। और क्लीनिक की आड़ में घर में चल रहे हॉस्पीटल पर छापामार दिया। स्वास्थ्य विभाग की टीम को डॉ बंगाली के नाम से क्लीनिक की आड़ में चल रहे हॉस्पीटल में एक दर्जन बुखार के बुखार के मरीज मिले ।जिसमें एक डेंगू का संदिग्ध मरीज भी भर्ती था। जिसे झोलाछाप ड्रिप पर ड्रिप लगाऐ जा रहा था। जिससे डेंगू के संदिग्ध मरीज की हालत गंभीर होती जा रही थी।डेंगू के संदिग्ध मरीज की स्थिति खराब देख सीएचसी अधीक्षक डॉ विजय कुमार ने उसे एंबुलेंस से आगरा रैफर कर दिया है ।इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम डॉ नवाब के क्लीनिक पर पहुंची। वहां पर भी बड़ी संख्या में बुखार के मरीज भर्ती थे। जिसमें एक डेंगू संदिग्ध मरीज भी भर्ती था ।स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इस क्लीनिक से भी सभी मरीजों को एंबुलेंस की सहायता से आगरा रेफर कर दिया । वही डॉक्टर नवाब के क्लीनिक पर अवैध रूप से पैथोलॉजी भी संचालित थी ।जिससे स्वास्थ्य विभाग की टीम ने नोटिस देते हुए बंद करा दिया है ।
वही इस मामले में सीएचसी अधीक्षक डॉ विजय कुमार कुमार का कहना है कि स्याही पुरा में दो झोलाछापों के खिलाफ  छापामार कार्रवाई की गयी है।दो हॉस्पीटल सीज किए गऐ हैं। झोलाछापो के हॉस्पिटल में भर्ती मिले मरीजों को एम्बुलेंस की मदद से सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया है ।