Thursday , June 13 2024

अधिकारियों ने बिना जाँच किये ही लगा दी अपात्रता की मुहर

मैनपुरी
नगर कुसमरा के वार्ड संख्या 5 निवासी मिथलेश के पति भूरे की मृत्यु लगभग डेढ़ वर्ष पहले हो गई थी । मिथलेश ने बताया कि उसी दौरान पारिवारिक योजना के लाभ हेतु आवेदन पत्र ऑनलाइन कर तहसील किशनी में जमा कर दिया था । लेकिन काफी समय बीतने पर आज जब पीड़िता ने अपने आवेदन पत्र की जांच करवाई तो रिपोर्ट में जाँच अधिकारी के द्वारा पीड़िता को योजना हेतु अपात्र घोषित कर दिया गया था। पीड़िता ने बताया कि कोई अधिकारी जाँच करने आया ही नही बिना जाँच किये ही मेरा आवेदन पत्र निरस्त कर दिया । बताया गया कि जबसे उसकी पति की मृत्यु हो गई ही तब से वह बर्तन धोने का काम कर अपने परिवार का भरण पोषण कर रही है । जब उपजिलाधिकारी किशनी को उक्त सन्दर्भ में अवगत कराया गया तो उन्होंने कहा कि यदि पीड़िता पात्र है तो अपात्र की रिपोर्ट क्यों लगाई गई इसकी जाँच करवाकर पीड़िता को उक्त योजना का लाभ दिया जाएगा ।