Saturday , April 20 2024

पात्र को नहीं मिला आवास, झोपड़ी डालकर रहने को मजबूर

मैनपुरी

गरीबों के उत्थान के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं बनायी। लेकिन ग्राम प्रधान व सचिव की मनमानी के चलते पात्रों को लाभ नहीं मिल सका। जिसका नतीजा यह है कि लोग आज भी अपने आसरेपर पन्नी व झोपड़ी डालकर अपना जीवनयापन कर रहे है।
विकासखंड जागीर क्षेत्र के गांव एलाऊ निवासी रेनू देवी पत्नी जयवीर भुर्जी को आवास नहीं मिल सका। गरीब परिवार कच्चे गिरासू मकान में झोपड़ी डालकर जीवन यापन कर रहा है। बीते 5 वर्ष में जयवीर ने आवास पाने के लिए ब्लॉक कार्यालय एवं ग्राम प्रधान व सचिव के अनगिनत चक्कर काटे लेकिन पात्र होने के बाद भी आवास नहीं मिल सका। आवास सूची में रेनू देवी पत्नी जयवीर का नाम प्रथम स्थान पर था। लेकिन ग्राम प्रधान व सचिव की मनमानी के कारण आवास नहीं मिल सका। पीड़ित का आरोप है ग्राम पंचायत में जिन लोगों ने बीस-बीस हजार रुपये दे दिए थे। उन्हें आवास योजना का लाभ मिला। मैं अपने परिवार का भरण पोषण मजदूरी कार्य करके करता हूं 20 हजार रुपये जुटाना मेरे लिए मुश्किल कार्य है। गिरासू कच्चे मकान की दीवालें गिरने का डर सताता रहता है। कहीं किसी दिन कोई हादसा ना हो जाए। झोपड़ी के ऊपर काली पन्नी डालकर अपनी पत्नी व तीन बच्चों के साथ जीवन बसर हो रहा है। अथक प्रयासों के बाद भी आवास नहीं मिला, थक हार कर घर बैठ गया। अब गांव की सरकार बदली है शायद नव निर्वाचित ग्राम प्रधान की कृपा हो जाए। तो आवास मिलने का सपना पूरा हो सकता है। मेरे पास 1 डेसिमिल जमीन भी नहीं है, शादी समारोह में हलवाई व टेंट हाउस वाले के साथ जाकर मेहनत मजदूरी का कार्य करता हूं। बमुश्किल तीन सौ रूपये मिल पाते हैं, उससे ही परिवार का गुजारा चलता है। लॉकडाउन के दौरान शादी समारोह कार्यक्रम बंद हो गए थे। तो भरण पोषण के लिए भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। तीन वर्ष पूर्व राशन कार्ड बनवाया था। लेकिन आज तक राशन नहीं मिला राशन डीलर से कहा तो जवाब मिला तुम्हारा राशन कार्ड सूची में नाम कट गया है तुम्हे राशन नहीं मिलेगा। जब की ऑनलाइन जानकारी जुटाने पर पता करवाया तो राशन कार्ड मेरी पत्नी के नाम दर्ज है। गेहूं चावल परिवार पालन के लिए खरीद कर ही लेने पड़ते हैं। जबकि केंद्र सरकार द्वारा सभी राशन कार्ड धारकों को निशुल्क अनाज मिल रहा है। पीड़ित ने जिलाधिकारी से मांग की है विभागीय लोगों को निर्देशित कर आवास योजना के तहत आवास एवं नियमानुसार निशुल्क राशन दिलवाया जाए।