Saturday , July 13 2024

राज्यसभा में भावुक हुए एम वेंकैया नायडू कहा, “कल जो हुआ उससे मैं बहुत दुखी हूं, लोकतंत्र…”

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने कल मंगलवार को हुई घटना पर क्षोभ व्यक्त करते हुए बुधवार को भावुक हो कर कहा कि लोकतंत्र के सर्वोच्च मंदिर की पवित्रता भंग की गई.

उच्च सदन की बैठक शुरू होने पर सभापति ने कल की घटना पर अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि वह सो नहीं सके क्योंकि लोकतंत्र के सर्वोच्च मंदिर की पवित्रता भंग की गई.

राज्यसभा सभापति वेंकैया नायडू ने राज्यसभा शुरू होते ही कल हुए हंगामे को लेकर अपनी आपत्ति और गहरे दुःख को व्यक्त किया लेकिन अपना वक्तव्य पढ़ते हुए जैसे ही उनका गला रुँधा वैसे ही विपक्ष ने एक बार फिर हंगामा करना शुरू कर दिया.

इसी शोर में सभापति ने अपना वक्तव्य ख़त्म करते हुए कहा कि मैं ये सदन ऐसे नहीं चलाना चाहता.राज सभा में कल सदन की कार्रवाई स्थगित होने के बाद घटी घटना पर गृह मंत्री अमित शाह राज्यसभा में नेता सदन पीयूष गोयल, अर्जुन राम मेघवाल, बी मुरलीधरण, धर्मेंद्र प्रधान समेत अन्य नेताओं ने राज्यसभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू के साथ बैठक की. इसमें हंगामा करने वाले विपक्षी सांसदों पर कार्यवाही करने को लेकर भी चर्चा हुई. इस वजह से मामले को एथिक्स कमिटी के पास भेजने पर विचार चल रहा है.