Saturday , March 2 2024

इटावा के जसवन्तनगर में यमुना नदी में पानी के तेज बहाव से प्राचीन शिवलिंग स्थल टूटा

 

सुबोध पाठक

जसवंतनगर। यमुना नदी में पानी के तेज बहाव से प्राचीन शिवलिंग स्थल टूटगया जिसे लोग अशुभ संकेत मान रहे हैं।
बलरई क्षेत्र में ब्रह्माणी मंदिर के पीछे यमुना नदी किनारे राजघाट स्थित प्राचीन शिवलिंग चबूतरा पानी की तेज बहाव के कारण बीती रात टूट गया जिससे शिव भक्तों को मानो अघात लग गया हो क्योंकि क्षेत्रीय ग्रामीण यहां आकर पूजा अर्चना करते रहे हैं। इस बार यमुना नदी की धाराएं इतनी तेज हो गईं कि शिवलिंग का चबूतरा नीचे से खोखला हो गया जिससे एक तरफ का हिस्सा टूट कर नष्ट हो गया। जिम्मेदारों की लापरवाही से प्राचीन आस्था का प्रतीक शिवलिंग चबूतरा धीरे धीरे नष्ट हो कर यमुना नदी में समा जाने की कगार पर है।
स्थानीय शिव भक्तों का कहना है कि समय रहते जिम्मदारों ने इसकी देखरेख नही की तो प्राचीन शिवलिंग का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। जिम्मदारों को चाहिए कि उक्त शिवलिंग चबूतरे का सौंदर्यीकरण करा कर इस प्राचीन धरोहर को बचा लिया जाए।