Saturday , March 2 2024

कन्नौज: अपनी ससुराल में ब्राह्मणों को लुभा गये सतीश मिश्रा

प्रज्ञेश प्रकाश भट्ट

कन्नौज।
बसपा के ब्राह्मण समाज प्रबुद्ध सम्मेलन में आज राज्यसभा सांसद व बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा ने कन्नौज में अपनी ससुराल का हवाला देते हुए सपा और भाजपा को ब्राह्मण विरोधी करार दिया। श्री मिश्रा आज एक निजी गेस्ट हाउस में ब्राह्मण समाज प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। भाजपा को ब्राह्मण विरोधी बताते हुए उन्होंने कहा कि बिकरु कांड के नाम पर कई निर्दोष ब्राह्मणों की हत्या की गई और उत्तर प्रदेश में ब्राह्मणों के उत्पीड़न और हत्या का दौर शुरू हो गया। फिर भी भाजपा अपने को ब्राह्मण हितैषी बताती है।
सपा ने भी अपने पूरे कार्यकाल में ब्राह्मणों का न तो सम्मान किया और न ही उनके लिए कोई योजना बनाई। सपा शासन काल के दौरान दंगा फसाद होते रहे और सपा के नेताओ व कार्यकर्ताओं ने जमकर लूटपाट की। सतीश मिश्रा के निशाने पर सपा और भाजपा ही रही। उन्होंने भाजपा पर रामलला के नाम पर जमकर रुपया जमा करने की बात कही।
श्री मिश्र ने कहा कि कोरोना काल मे जब लोगो को इलाज की जरूरत थी तब भाजपा सरकार उन्हें ऑक्सीजन और इलाज नहीं दे सकी। महंगाई के कारण जानता कराह रही है। रसोई गैस सिलेंडर के दाम ही नही, पेट्रोल डीजल के दाम भी बेतहाशा बढ़े हैं और भाजपा की सरकार तमाम सरकारी संस्थाओं को बेचने का काम कर रही है।
श्री मिश्र ने बेरोजगारी की समस्या पर भी भाजपा सरकार को घेरा और कहा कि युवाओं को दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया गया था लेकिन अब उनसे कहा जा रहा है कि वह पकौड़ा तलें। नौकरी मांगने वाले बेरोजगारों पर लाठियां बरसाई जा रही है और बेरोजगार पकौड़ा बेचने पर मजबूर हैं। सतीश मिश्र के सम्मेलन स्तर पर पहुचने पर पंडितों द्वारा स्वस्ति वाचन किया गया और उन्हें चालीस किलो की माला पहनाई गयी। श्री मिश्र को राम दरबार की मूर्ति भी भेंट की गई। उनके साथ पूर्व मंत्री नकुल देव भी रहे।
सतीश मिश्रा अपनी पत्नी के साथ बाबा गौरीशंकर मंदिर पहुँचे जहाँ उन्होंने भगवान के दर्शन किये। उनके साथ बसपा नेता और पूर्व मंत्री नकुल दुबे भी रहे। सतीश मिश्रा की कन्नौज में मकरंद नगर में ससुराल है और काफी लंबे अरसे बाद वह कन्नौज आये। कन्नौज के लोगो से उन्होंने अपना आपसे रिश्ता भी जोड़कर कन्नौज के लोगो को लुभाया।