Friday , March 1 2024

कमजोर इम्यून सिस्टम के कारण आपको भी बार बार हो सकती हैं ये बिमारी

हमारे शरीर में जो भी बीमारियां होती हैं, उसका मुख्य कारण होता है शरीर का कमजोर इम्यून सिस्टम। इम्यून सिस्टम के कमजोर होने का मतलब है कि शरीर की रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता का घटना।

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता उसको मिलने वाले पोषक तत्वों पर निर्भर करती है। कच्चे पपीते और उसके बीज में बहुत सारा विटमिन ‘ए’, ‘सी’ और ‘ई’ होता है, जो शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है।

अगर आप कच्चा पपीता ले रहे हैं तो ध्यान रखें कि यह पूरी तरह से हरा और ठोस हो। इसमें किसी भी तरह के दाग या फंफूद न हो। अक्सर लोग रंग देखकर पपीता लेते हैं, लेकिन जरूरी नहीं कि बाहर से हल्की हरी स्किन वाला पपीता कच्चा ही होगा। अगर पका पपीता खरीदें तो देखें कि उसकी स्किन बाहर से अच्छा नारंगी और पीला रंग लिए हो और कुछ हरे धब्बे भी हो सकते हैं।

हाथ से दबाने पर वह बेहद कम दबना भी चाहिए, लेकिन अगर जरा सा दबाने पर ही पपीता पूरी तरह से अंदर धंस जा रहा हो तो उसे लेने से भी परहेज करें। भूरी सी स्किन और जगह-जगह सफेद फंफूद से दाग दिखने पर पका पपीता नहीं लेना चाहिए। ऐसा पपीता खाने से आपकी सेहत को फायदे की जगह नुकसान पहुंच सकता है।