Tuesday , June 18 2024

इटावा सिकरोड़ी पुल की चह क्षतिग्रस्त होने से आवागमन हुआ बाधित

चकरनगर /इटावा, पिछले 3 दिनों से जारी बरसात ने मुख्य मार्गों के साथ ही संपर्क मार्गों की सूरत भी बिगाड़ दी है, कई मार्गों पर जलभराव और कीचड़ के कारण लोग जहां-तहां गिरकर घायल होते रहे। रुक रुककर धीमी और तेज बारिश ने लोगों को मुश्किल में डाल दिया है। आलम यह है कि कस्वा के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों की सड़कों की सूरत बद से बदतर हो गई है। जलजमाव होने और कीचड़ फैलने से आवागमन करने वालों को फजीहत उठानी पड़ी। लोग पानी और कीचड़ के बीच से आवागमन करने को विवश रहे

चकरनगर की अधिकांश सड़कों की दशा तो हाल के दिनों में कहीं-कहीं ग्रामीणों ने और कहीं पर विभाग द्वारा भी सुधारी गई है लेकिन अभी भी कुछ सड़कें अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहीं हैं, जिससे इन पर आवागमन करने वाले परेशान हो रहे हैं बारिश होने पर लोगों की दिक्कतें और भी बढ़ रही हैं। चकरनगर कस्बा से बाबरपुर औरैया को जोड़ने वाला संपर्क मार्ग जिसे हाईवे के नाम से जाना जाता है जो सिकरोड़ी पुल के ऊपर से गुजरता है यहां पर सिकरोड़ी की तरफ तो चह ठीक है पर गढ़ाकास्दा-भरेह की तरफ से बनने वाली चेह बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुकी है हालात यह है कि वहां से ट्रैक्टर की ट्राली निकलना भी किसी प्रकार से खतरे से खाली नहीं है।दोनों तरफ रैनकट तो छोड़ो सड़क भी कट कर लगता है पाताल को धसक गई है। सड़क पर अभी तक किसी ने कोई भी तवज्जो न देकर लोगों के लिए यातायात में भारी दिक्कतों बढाईं हैं। यदि प्रशासन ने इस पर कोई ध्यान न दिया तो कभी भी कोई भी बड़ी अनहोनी हो सकती है। इस पुल की दुर्दशा आज से नहीं जब से यह पुल बना है तब से दिक्कत अनवरत चली आ रही है। जब कभी स्थानीय पत्रकारों द्वारा समस्या को उछाला जाता है तो छुटपुट कार्य करा कर इतिश्री कर दी जाती है,

गढ़ाकास्दा प्रधान हेम रुद्र प्रताप सिंह सेंगर ने प्रशासन से आग्रह किया है कि पुल की और बीच-बीच में खराब हुई सड़क को जल्द ही ठीक कराया जाए ताकि किसी प्रकार की अनहोनी ना हो सके। जिला पंचायत सदस्य राजेश सिंह उर्फ बबलू भैया ने जिलाधिकारी इटावा और उप जिलाधिकारी चकरनगर से मांग की है कि संबंधित विभाग को निर्देशित कर जांच कराएं और कार्य संपादित कर आवागमन करने वाले वाहनों को हो रही मुसीबतों से निजात दिलाई जाए।