Saturday , June 15 2024

जी-20 शिखर सम्मेलन में कोविड-19 रोधी टीकों के आपात इस्तेमाल पर हो सकता हैं ये बड़ा फैसला

 एक नवंबर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत जी20 नेताओं ने कोविड-19 रोधी टीकों के आपात इस्तेमाल के लिए मंजूरी देने की प्रक्रिया तेज करने और विकासशील देशों में टीकों की आपूर्ति बढ़ाने के कदम उठाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन को मजबूत करन का आह्वान किया, ताकि सभी देशों में 2021 के अंत तक कम से कम 40 प्रतिशत आबादी और 2022 के मध्य तक 70 प्रतिशत आबादी के टीकाकरण का वैश्विक लक्ष्य हासिल किया जा सके।

रोम घोषणापत्र में जी20 नेताओं ने जानलेवा कोविड-19 महामारी से निपटने के निरंतर प्रयासों के लिए स्वास्थ्य देखभाल और अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों, अतरराष्ट्रीय संगठनों तथा वैज्ञानिकों का आभार जताया।

जी20 देशों ने यहां शिखर सम्मेलन में अपने घोषणापत्र में कहा, ”टीके महामारी के खिलाफ सबसे महत्वपूर्ण उपायों में से एक हैं और व्यापक पैमाने पर टीकाकरण वैश्विक जन स्वास्थ्य के लिए अच्छा है.”

नेताओं ने कहा, ”सभी देशों की कम से कम 40 प्रतिशत आबादी को 2021 के अंत तक और 70 प्रतिशत आबादी को 2022 के मध्य तक टीके लगाने के वैश्विक लक्ष्यों को हासिल करने में मदद के लिए हम विकासशील देशों में टीकों और आवश्यक चिकित्सा सामानों की आपूर्ति बढ़ाने और प्रासंगिक आपूर्ति तथा वित्तीय बाधाओं को हटाने में मदद करने के लिए कदम उठाएंगे।”