Friday , July 12 2024

अफगानिस्तान में दिन-ब-दिन बिगड़े हालात, पलायन को मजबूर हो रहे हजारों परिवार

अफगानिस्तान में तालिबान आतंकवादियों का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसका अधिक प्रांतों पर कब्जे का मंसूबा खतरनाक होता जा रहा है । उनके खौफ से बचने के लिए हजारों अफगान परिवारों ने पलायन कर राजधानी काबुल का रूख अख्तियार किया है जहां वे खुले आसमान तले सड़कों पर जीने को विवश हैं। तालिबान ने पिछले चार दिनों में छह प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा किया है।

सोमवार को तालिबान ने उत्तरी प्रांत समनगन की राजधानी ऐबक पर कब्जा कर लिया। इससे पहले तालिबान ने कुंदुज, तखार, जोज्जान, सर-ए-पोल और निमरुज पर कब्जा कर रखा है।

अमेरिकी सेना ने हाल के दिनों में तालिबान आतंकवादियों के खिलाफ हवाई हमले किए क्योंकि आतंकवादी समूह ने तेजी से प्रगति की है भारी संघर्षों के बाद छह प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा करने का दावा किया है।

कई अफगान शहरों देश के 34 प्रांतों में से लगभग आधे ने हाल के हफ्तों में भारी लड़ाई देखी है। तालिबान आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के खिलाफ लड़ाई जारी रखी है।सुरक्षा की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए, 7 अगस्त को काबुल में अमेरिकी दूतावास ने सभी अमेरिकियों से उपलब्ध वाणिज्यिक उड़ानों के माध्यम से तुरंत देश छोड़ने का आग्रह किया।

खामा प्रेस ने कहा कि उत्तरी कुंदुज प्रांत से विस्थापित हुए सैकड़ों लोग काबुल शहर के पुलिस जिला 15 के एक पार्क में रह रहे हैं। बच्चों, बुजुगोर्ं और घायल सदस्यों सहित परिवार काबुल में डेरा डाले हुए हैं, जिनमें से कई अपने वयस्क पुरुष सदस्यों के भाग्य के बारे में नहीं जानते, जो अकेले कमाने वाले हैं।