Tuesday , April 16 2024

औरैया,योगी सरकार मे जनपद औरैया के पत्रकार नही है सुरक्षित

ए, के, सिंह संवाददाता जनपद औरैया

औरैया- लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकारों को धमकियां मिलने का एवं अभ्रदता और मारपीट का सिलसिला रुकने का नाम ही नही ले रहा है। जनता को सच्चाई से रूबरू कराने वाले पत्रकार जो भूखे प्यासे रहकर खबर को ढूंढ कर लाते हैं। जिन्हें ना दिन का पता होता है। ना रात जो कि न धूप देखते है। ना बारिश बस निकल पड़ते है। सड़क पर खबर की तलाश में तब भी उत्तर प्रदेश सरकार पत्रकारों के लिए कोई कानून पास नही कर रही। जिससे कि पत्रकारों को सुरक्षा मिल सके आपको बता दें पत्रकार जब सुबह घर से निकलता है। तो उसको यह नही पता होता कि वो अब किस समय घर मे जाएगा। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। उत्तर प्रदेश के जनपद औरैया निवासी पत्रकार शिवम पाल और पत्रकार साथी विकास सक्सेना के साथ बिजली विभाग की कमियों को उजागर करना भारी पड़ गया .. आपको बताते चलें औरैया सदर कोतवाली क्षेत्र के जिला अस्पताल के गेट के बीते सप्ताह 11 हज़ार वोल्टेज की लाइन टुट कर गिर गई जिससे बडा हादसा हुआ लाइन टुटने से उसकी चपेट में आई तीन चार कारें चपेट में आने से आग लग गई, …. आज दिनांक 25/8/2021 को करीब 11 बजे पुनः जिला अस्पताल के गेट के सामने बिजली की 11 हज़ार वोल्टेज की लाइन टुट कर गिर गई.. जिससे बहुत बड़ा हादसा होने से टला. .. इस घटना को कवरेज करने पहुंचे पत्रकार शिवम पाल वा विकास सक्सेना ने टुटे तार का विडियो बनाया और मौके मौजूद लोगों से घटना की जानकारी कर वहां से बिजली विभाग के कार्यालय यमुना रोड पर सम्बंधित अधिकारी से बर्जन लेने के लिए पहुंच गए… उपकेंद्र कार्यालय में एक्ससियन से वार्तालाप की तो उन्होंने 11 हज़ार वोल्टेज की लाइन टुट जानें के सम्बन्ध में एसडीओ से सम्पर्क करने को कहा .. तो पत्रकार शिवम पाल , पत्रकार विकास सक्सेना एसडीओ के आफिस में आये और लाइन टुटने वाली घटना पर वार्ता लाप की तो मौके पर मौजूद संविदा कर्मी प्रवीन शर्मा ने आक्रोशित होकर पत्रकारों से अभद्रता करने लगे और भद्दी भद्दी गालियां देने लगें.. शिवम पाल का गिरेबान पकड़ कर मारपीट पर आमादा हो गये , पत्रकार विकास सक्सेना ने विरोध किया और विडियो बनाने लगें तो बिजली विभाग के कर्मचारियों ने एक राय होकर मारपीट एवं धक्का देकर कार्यालय के बहार कर दिया.. जिससे शिवम पाल के कपड़े भी फट गये.. जिसका विडियो साथी पत्रकार विकास सक्सेना ने बना लिया

इस प्रकरण की जानकारी और पत्रकारों को हुई तो बिजली विभाग के कार्यालय पर आधा सैकड़ा पत्रकार पहुंच गए और इस सम्बन्ध में एक्सशियन से शिकायत की और उक्त संविदा कर्मियों पर विभागीय जांच कर कार्रवाई की मांग की ,एक्सशियन ने संविदा कर्मी प्रवीन शर्मा को बुलाया तो वह फोन ओफ कर रफूचक्कर हो गया..

सुचना पर पहुची कोतवाली पुलिस ने भी मौके पर जांच पड़ताल की .. और बिजली विभाग के अधिकारियों से वार्ता लाप की मौका मुआयना किया

बिजली विभाग के अधिकारियों के बुलाने के बावजूद भी उक्त संविदा कर्मी कार्यालय नही आया ..

पत्रकारों ने इस प्रकरण की शिकायत पुलिस के उच्चाधिकारियों से की ..

पत्रकार शिवम पाल , ने कोतवाली पुलिस को लिखित शिकायती पत्र देकर संविदा कर्मी के कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है

अब देखने वाली बात यह है कि इस प्रकरण में बिजली विभाग संविदा कर्मी पर क्या विभागीय कार्रवाई करता है और औरैया पुलिस पीड़ित पत्रकार को न्याय कब तक न्याय दिला पाती हैं या यूं ही योगी सरकार में पत्रकारों की कलम तोड़ने का कार्य किया जाता रहेगा