Tuesday , June 18 2024

प्रतिभा तिवारी को मिलेगा राज्य अध्यापक पुरस्कार

प्रतिभा तिवारी को मिलेगा राज्य अध्यापक पुरस्कार

इटावा।उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग में प्रतिवर्ष उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को राज्य अध्यापक पुरस्कार दिया जाता है,गत वर्ष 2019 में 75 शिक्षकों को विभिन्न जनपदों से चयनित किया गया था इसी क्रम में जनपद इटावा से उच्च प्राथमिक विद्यालय रामनगर की प्रधानाध्यापक प्रतिभा तिवारी का चयन राज्य अध्यापक पुरस्कार हेतु किया गया था परंतु पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन एवं कोरोना महामारी के चलते यह पुरस्कार वितरण समारोह स्थगित कर दिया गया था।

उक्त पुरस्कार के क्रम में शासन द्वारा जिलाधिकारी के माध्यम से इस वर्ष यह पुरस्कार जनपद पर प्रदान किए जाएंगे।प्रतिभा तिवारी को इससे पूर्व तत्कालीन जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी द्वारा उनके द्वारा किए गए नवा चारों नामांकन बढ़ाने एवं बालिका सशक्तिकरण हेतु किए गए प्रयासों हेतु महिला दिवस पर भी पूर्व में सम्मानित किया जा चुका है।उन्होंने वर्ष 2013 में उच्च प्राथमिक विद्यालय रामनगर में कार्यभार लिया था तब विद्यालय की मात्र 56 छात्र संख्या थी और वह विद्यालय में अकेली शिक्षिका थी चुनौतियों का सामना करते हुए उन्होंने अपने विद्यालय के नामांकन पर विशेष ध्यान दिया परिणाम स्वरूप आज विद्यालय की छात्र संख्या जनपद के सर्वाधिक 10 टॉप छात्र संख्या वाले विद्यालयों की श्रेणी में है।जिसके लिए तत्कालीन जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं डाइट प्राचार्य द्वारा उनको प्रशस्ति पत्र देकर सराहना भी की गई थी।विद्यालय में प्रतिवर्ष विभिन्न समारोह का आयोजन जिला स्तरीय अधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों के आगमन एवं बच्चों के उत्साहवर्धन से समाज में विद्यालय के प्रति सोच बदली है जिससे विद्यालय के नामांकन पर अच्छा प्रभाव पड़ा है। विद्यालय के बच्चे समस्त जिला स्तरीय प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करते हैं और अपना स्थान भी सुनिश्चित करते हैं।

प्रतिभा तिवारी कई विषयों की राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर भी हैं जिनमें संवाद मॉड्यूल स्वास्थ्य एवं स्वच्छता मीना मंच विज्ञान एवं निष्ठा मॉड्यूल प्रमुख हैं जिसके द्वारा वह लगभग 4000 शिक्षक शिक्षिकाओं को डाइट एवं बीआरसी पर प्रशिक्षित भी कर चुकी हैं।मीना मंच के माध्यम से बालिकाओं को सशक्त बनाने हेतु कई कार्यक्रमों का आयोजन जिसमें पोस्टर प्रतियोगिताएं रैली निकालना नुक्कड़ नाटक आदि के द्वारा समाज में व्याप्त कुरीतियों शिक्षा के प्रति जागरूकता एवं कन्या भ्रूण हत्या गुड टच बैड टच जिसको उन्होंने अपने विद्यालय से प्रारंभ करके जनपद के विभिन्न मंचों के माध्यम से बालिकाओं को इन बुराइयों के प्रति जागरूक रहने के लिए प्रेरित किया जिसकी सराहना कमिश्नर राज शेखर द्वारा भी की गई।कक्षा शिक्षण में आईसीटी का प्रयोग करते हुए उन्होंने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में प्रदेश में आठवां स्थान भी प्राप्त कर चुकी हैं।